बारात आई तो दुल्हन फरार, छोटी बहन से करा दी शादी, लेकिन करना पड़ेगा इंतजार!

भवानीपटना/कालाहांडी: ओडिशा में हुई एक शादी के जबरदस्त चर्चे हैं। दरअसल, एक घटनाक्रम में बारात जब लड़की के घर पहुंची, तो लड़की अपने प्रेमी के साथ फरार हो गई। इसके बाद दोनों तरफ से सुलह समझौता हुआ और लड़की के परिवार ने लड़की की छोटी बहन की शादी दूल्हे से कराने के लिए हामी भर दी। ये शादी हो भी गई। दुल्हन बिदा होकर अपनी ससुराल भी पहुंच गई लेकिन तभी वहां पहुंची पुलिस की वजह से अचानक सबकुछ बदल गया। पुलिस लड़की को अपने साथ ले आई और उसके परिवार के हवाले कर दिया। हालांकि इसके बाद भी किसी पक्ष की तरफ से कोई नाराजगी नहीं दिखाई गई बल्कि दूल्हे ने कहा कि वो तीन साल अपनी दुल्हन का इंतजार करेगा।

नाबालिग थी नई दुल्हन

ये पूरे मामला ओडिशा के कालाहांडी का है। यहां पर एक बारात अपने गंतव्य को पहुंच गई, जहां द्वारपूजा के बाद शादी के अन्य कार्यक्रम हो रहे थे। तभी खबर आई कि दुल्हन घर से फरार हो चुकी है। बारात घर के बाहर खड़ी थी और दूल्हा दुल्हन का इंतजार कर रहा था, लेकिन जब दुल्हन के फरार होने की बात सामने आई, तो सब हैरान रह गए। ऐसे में पारिवारिक और सामाजिक बंधनों-दबावों के चलते दुल्हन के परिजनों ने दुल्हन की छोटी बहन से शादी कराने का प्रस्ताव रखा, जिसे दूल्हे और उसके परिवार ने मान लिया। इसके बाद शादी की सभी औपचारिकताएं निभाई गई। फिर सुबह दुल्हन अपनी ससुराल भी पहुंच गई, लेकिन तभी वहां पुलिस पहुंच गई और उसने बताया कि ये बाल विवाह है। यानि कि लड़की नाबालिग है। लड़की की उम्र सिर्फ 15 साल है और बीती रात जो कुछ भी हुआ, वो कानूनी तौर पर अपराध है।

दोनों परिवारों के हाथ पांव फूले

इसके बाद दोनों परिवार वालों को बुलाया गया। जहां से पुलिस ने दुल्हन को उसके भाई के साथ घर भेज दिया। हालांकि पुलिस ने इस मामले में कोई केस दर्ज नहीं किया, क्योंकि दूल्हे और दुल्हन के परिजन इस बात के लिए मान गए कि वो लड़की के बालिग होने का इंतजार करेंगे। उन्होंने बताया कि अगर शादी नहीं कराई जाती, तो दोनों परिवारों की बदनामी होती। ऐसे में पुलिस ने भी सामाजिक दबावों को देखते हुए कोई केस दर्ज नहीं किया और दोनों परिवारों को समझा बुझा कर शांत कर दिया।

प्रशासन ने क्या कहा?

कालाहांडी जिले के चाइल्ड प्रोटेक्शन ऑफीसर  सुकांति बहेड़ा ने बताया कि दुल्हन अभी नाबालिग है। उनकी 10वीं की परीक्षा होने वाली है। हमने उसे उसके भाई के हवाले कर दिया है। उन्होंने कहा कि दोनों ही परिवारों को नहीं पता था कि नाबालिग से शादी गैरकानूनी है और जब दूल्हे के परिवार को बताया गया कि ये गलत है तो दूल्हे के परिवार ने तीन साल इंतजार करने की बात कही। ऐसे में हमने भी शादी को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की। हम इस पूरे मामले में आगे भी नजर रखेंगे। हमने दोनों परिवारों की काउंसिलिंग भी की है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

बढ़ते वजन को आसानी से घटाता है बासी चावल

नई दिल्ली : नपा तुला खाना बनाना कई बार मुश्किल हो जाता है। हालांकि कई लोग लोगों की संख्या के आधार पर नपा तुला खाना आगे पढ़ें »

बंगाल में हिन्दीभाषियों को निराश नहीं होने देंगी दीदी – विवेक गुप्त

सन्मार्ग संवाददाता हावड़ा : दीदी ने जितना हिन्दीभाषियों के लिए काम किया है उतना बंगाल में किसी ने नहीं किया है। दीदी हमेशा ही हिन्दीभाषियों व आगे पढ़ें »

ऊपर