मार्च महीने में महाशिवरात्रि, होलिका दहन, होली समेत पड़ रहे कई व्रत-त्योहार, देखें पूरी सूची

कोलकाताः आज से फाल्गुन माह के साथ तीसरे महीने की शुरूआत हो गई है। इस माह में हिंदू धर्म का सबसे बड़ा त्योहार होली तो पड़ता ही है, साथ ही साथ कई और व्रत व त्योहार पड़ेंगे। हिंदू कैलेंडर के अनुसार मार्च का महीना साल का अंतिम माह होता है। इस माह में प्रदोष व्रत, विजया एकादशी, आमल की एकादशी, महाशिवरात्रि, फाल्गुन अमावस्या के अलावा होलाष्टक, फाल्गुन पूर्णिमा, होलिका दहन, होली, गणेश चतुर्थी समेत अन्य व्रत व त्योहार पड़ेंगे।

02 मार्च, मंगलवार: संकष्टी चतुर्थी
संकष्टी चतुर्थी मंगलवार, 02 मार्च को पड़ रही है। आपको बता दें कि चतुर्थी तिथि के दिन यदि मंगलवार पड़ता है तो उसे अंगारकी चतुर्थी भी कहा जाता है। अंगारकी चतुर्थी का संबंध मंगल ग्रह से होता है, जिसका कुंडली और ज्योतिष में काफी महत्व है।
06 मार्च, शनिवार: कालाष्टमी
मान्यताओं के कालाष्टमी तिथि को कालभैरव का व्रत रखा जाता है। हर वर्ष फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की पंचमी तिथि को रखा जाता है। इस बार 06 मार्च, शनिवार को यह शुभ तिथि पड़ रही है।
10 मार्च, बुधवार: प्रदोष व्रत
मार्च में पहला प्रदोष व्रत 10 मार्च, बुधवार को पड़ रहा है। इस व्रत में पूजा रात्रि के प्रथम प्रहर में करने की परंपरा होती है। इस दिन भगवान शिव को पूजा जाता है।
11 मार्च, गुरुवार: महाशिवरात्रि
भगवान शिव का सबसे बड़ा व्रत महाशिवरात्रि हर साल फाल्गुन कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाई जाती है। जो इस बार 11 मार्च, गुरुवार को पड़ रहा है। लेकिन, आपको बता दें कि हर माह के कृष्ण और शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी भगवान शिव को समर्पित होता है। इस दौरान मास शिवरात्रि व्रत रखा जाता है।
13 मार्च, शनिवार: फाल्गुन अमावस्या
फाल्गुन मास की स्नान-दान-श्राद्धा की अमावस्या मनायी जायेगी। स्नान-दान का अधिक महत्व सुबह सूर्योदय के समय होता है। लिहाजा आज कई तीर्थ स्थलों पर लोग स्नान-दान कर रहे होंगे। इस दिन शनिवार पड़ने के कारण शनि अमावस्या पड़ रही हैं।
17 मार्च, बुधवार: विनायक चतुर्थी
भगवान गणेश को समर्पित मासिक व्रत विनायक चतुर्थी हर माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनायी जाती है। इस बार यह 17 मार्च, दिन- बुधवार को पड़ रहा है।
21 मार्च, रविवार: होलाष्टक आरंभ
हर वर्ष होली के आठ दिन पहले होलाष्टक की शुरूआत हो जाती है। जो फाल्गुन मास की शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि से फाल्गुन पूर्णिमा तक रहता है। ऐसे में इस साल होलाष्टक 21 मार्च से शुरू हो रही है, लेकिन, आपको बता दें कि इस दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं किए जाते है।
25 मार्च, गुरुवार: आमलकी एकादशी
इस साल आमलकी एकादशी 25 मार्च, गुरुवार को पड़ रही है। हर साल फाल्गुन मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को इसे मनाने की परंपरा होती है। इसे रंगभरी एकादशी के नाम से भी जाना जाता है।
28 मार्च, रविवार: होलिका दहन
हर बार फाल्गुन मास की पूर्णिमा के दिन होली का पर्व मनाया जाता है। इस बार हिंदू पंचांग के अनुसार 28 मार्च, रविवार को यह मुहूर्त पड़ रहा है।
29 मार्च, सोमवार: होली
दो दिन पड़ने वाले रंगों के त्योहार को देश भर में धूमधाम से मनाया जाता है। इस बार 28 मार्च को होलिका दहन के बाद 29 मार्च, सोमवार को होली मनायी जाएगी।
मार्च 2021 में पड़ने वाले सभी व्रत-त्योहार की सूची
02 मार्च, दिन: मंगलवार— संकष्टी चतुर्थी
06 मार्च, दिन: शनिवार— जानकी जयंती
08 मार्च, दिन: सोमवार— महर्षि दयानंद सरस्वती जयंती, गुरु रामदास जयंती09 मार्च, दिन: मंगलवार— विजया एकादशी
10 मार्च, दिन: बुधवार— प्रदोष व्रत
11 मार्च, दिन: गुरुवार— महाशिवरात्रि
13 मार्च, दिन: शनिवार— फाल्गुन अमावस्या
14 मार्च, दिन: रविवार— मीन संक्रांति
15 मार्च, दिन: सोमवार— फूलेरा दूज
17 मार्च, दिन: बुधवार— विनायक चतुर्थी
21 मार्च, दिन: रविवार— होलाष्टक प्रारंभ
22 मार्च: दिन: सोमवार— लड्डु होली– बरसाना
23 मार्च, दिन: मंगलवार— लठामार होली– बरसाना
24 मार्च, दिन: बुधवार— लठामार होली– नंदगांव
25 मार्च, दिन: गुरुवार— आमलकी एकादशी
25 मार्च, दिन: गुरुवार— लठामार होली– रावल गांव
26 मार्च, दिन: शुक्रवार— प्रदोष व्रत
28 मार्च, दिन: रविवार— होलिका दहन, फाल्गुन पूर्णिमा
29 मार्च, दिन: सोमवार— होली
30 मार्च, दिन: मंगलवार— होली भाई दूज या भातृद्वितीया
शेयर करें

मुख्य समाचार

जायडस की विराफिन को DCGI की मंजूरी

नई दिल्ली : कोरोना मरीजों के इलाज में तेजी लाने के लिए ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DGCI) ने शुक्रवार को जाइडस कैडिला की दवा विराफिन आगे पढ़ें »

कोरोना महामारी के दौरान वर्कप्लेस पर इन पांच सेफ्टी टिप्स की जानकारी सभी को होनी चाहिए

कोलकाताः कोविड-19 महामारी दुनियाभर में तेजी से फैल रही है। इससे संबंधित सूचना, आंकड़े, दिशा-निर्देश आदि तेजी से बदल रहे हैं जिससे इस संक्रमण को आगे पढ़ें »

ऊपर