शाक-भाजी या फल श्रेष्ठ

शाकाहारी व्यक्ति एवं नव शाकाहारी अक्सर इस बात को लेकर दुविधा में रहते हैं कि वे शाक-भाजी या फल किसे अपनाएं या किसे अधिक महत्त्व दें। वस्तुत: शाक भाजी एवं फल में सामान्य गुण हैं। उनमें खनिज, विटामिन्स, पोषक तत्व मिलते-जुलते होते हैं। इन सभी में रेशे की मात्रा है जो भोजन पचाने एवं पेट को साफ रखने में मददगार है। शाक-भाजी को मूल अवस्था में नहीं खाया जा सकता। उसे पकाकर खाया जाता है और अधिक पकाने से उनके गुण में कुछ कमी हो जाती है जबकि फल मूल रूप में खाया जा सकता है। उसका रस पीने की अपेक्षा फल खाना श्रेष्ठ है जबकि शाक भाजी को कम पकाकर खाना लाभप्रद है। अतएव फल साबुत खाएं एवं शाक भाजी कम पकाकर खाएं, तभी वह हितकारी हैं। दोनों में समान गुण हैं अतएव उसे अपनी हैसियत व जरूरत के अनुसार जरूर खाएं।
जवां धड़कन खतरे में

‘अर्ली एज’ में हृदय रोगों का शिकार होकर अस्पताल पहुंचने वाले मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। जवां धड़कनों का इस तरह खतरे में पड़ जाना चिंतनीय है जो भयानक भविष्य की ओर संकेत कर रहा है। हर मोड़ पर प्रतिस्पर्धा से घिरी युवा पीढ़ी सदैव तनाव व दबाव में रहती है। वह असंयमित जीवन शैली एवं असंगत जीवनचर्या की चपेट में है। घरेलू व परंपरागत स्थान पर उसे माडर्न फास्ट व जंक फूड पसंद है जो स्वयं में बीमारियों का घर है। माडर्न साधनों का अधिकाधिक लाभ लेने के कारण युवा श्रमशून्य हो गया है। सबने मिलकर युवा धड़कनों को जकड़ लिया है। युवा एवं परिजन सचेत हों, सावधानी बरतें या फिर मुसीबतों का सामना करने को तैयार रहें।
दौड़ने से हड्डियां मजबूत होती हैं

हमारे सभी परंपरागत भोजन में हड्डियों को मजबूत करने वाले तत्व मौजूद हैं पर वह विटामिन डी अर्थात धूप में रहने एवं शारीरिक सक्रिय रहने से शरीर व हड्डियों के ग्रहण करने के योग्य हो पाती हैं। भोजन को हमारा पाचन तंत्र पचाता एवं लिवर उसमें जरूरी तत्वों को शरीरांगों में भेजता है। विटामिन डी जो कोमल सूर्य की किरणों में मौजूद है, उसके सहयोग से कैल्शियम को हमारा शरीर व हमारी हड्डियां ग्रहण कर पाती हैं। हड्डियों के साथ-साथ मांसपेशियों का मजबूत जाल है जो व्यायाम व शारीरिक श्रम से मजबूत होती हैं। कसरत, दौड़ने एवं अपने स्थान पर कूदने से मांसपेशियां मजबूत होती हैं जो अपने साथ-साथ हड्डियों को भी सुदृढ़ बनाती हैं, अतएव हड्डियों की मजबूती के लिए कैल्शियम प्रधान भोजन कीजिए। कोमल धूप का सेवन कीजिए और जी भर कर श्रम कीजिए। यथा संभव दौड़िए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब अनुब्रत मंडल आये आयकर के निशाने पर, अगले सप्ताह बुलाये गये

करोड़ों की बेनामी संपत्ति का आरोप कोलकाता : आयकर विभाग ने ​अगले सप्ताह तृणमूल नेता अणुव्रत मंडल को बेनामी संपत्तियों से संबंधित मामलों में नोटिस भेजी आगे पढ़ें »

vote

जंगीपुर व शमशेरगंज में मतदान तिथि बदली, अब 16 मई को मतदान

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : चुनाव आयोग ने जंगीपुर व शमशेरगंज में 13 मई को होने वाले मतदान की तिथि बदल दी है। अब यहां 16 मई आगे पढ़ें »

ऊपर