घर के मंदिर में जरूर रखें ये 5 चीजें, नहीं होगी धन-संपत्ति की कमी

नई दिल्ली : हर घर में पूजा स्थल या फिर मंदिर का एक खास स्थान होता है। इस जगह बैठकर हम अपने सभी दुख और परेशानियों को भूल जाते हैं। यहां से पूरे घर पर ईश्वर की कृपा बरसती है। पूजा स्थल पर कुछ खास चीजें रखने से हमेशा मां लक्ष्मी का आशीर्वाद बना रहता है। आइए जानते हैं क्या हैं वो चीजें।
मोर पंख अपने पूजा स्थल पर मोर पंख जरूर रखें. माना जाता है कि मोर पंख रखने से घर में सकारात्मकता आती है। भगवान श्री कृष्ण को मोर पंख बहुत पसंद हैं। जो लोग अपने घर में मोर पंख रखते हैं, उन पर भगवान श्री कृष्ण की कृपा बनी रहती है। ये भी कहा जाता है कि मोर पंख रखने से घर में कीड़े-मकोड़े और छिपकलियां भी नहीं आती हैं। 

गंगाजल– हिंदू धर्म में गंगाजल को बहुत पवित्र माना गया है। लगभग हर घर में पूजा स्थल पर गंगाजल रखा होता है। मान्यता है कि मंदिर में गंगाजल रखने से मां लक्ष्मी की विशेष कृपा होती है। घर के मंदिर में किसी चांदी या पीतल के बर्तन में गंगाजल रखें। इससे घर में सुख-शांति बनी रहेगी।

शंख– घर के मंदिर में शंख जरूर रखना चाहिए। कहा जाता है कि घर के मंदिर में शंख रखने से घर का वातावरण अच्छा होता है और सकारात्मकता बनी रहती है। मंदिर में शंख बजाने से घर में सुख-शांति बनी रहती है। मान्यता है कि दक्षिणावर्ती शंख रखने से शुभ परिणाम मिलते हैं।

शालिग्राम आमतौर पर जो लोग अपने घरों में तुलसी रखते हैं, उनके घर में शालिग्राम भी होता है। पूजा स्थल पर शालिग्राम रखना बहुत शुभ माना जाता है। शालिग्राम को विष्णु भगवान का रूप माना जाता है। शालिग्राम रखने से मां लक्ष्मी के साथ-साथ भगवान विष्णु का आशीर्वाद भी मिलता है और जीवन में कभी भी आर्थिक परेशानियां नहीं आती हैं।

गोमूत्र– हिंदू धर्म में गोमूत्र को भी बहुत पवित्र माना जाता है। मान्यता है कि घर में गोमूत्र रखने से घर के सदस्यों पर देवी-देवताओं का आशीर्वाद हमेशा बना रहता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्या आपको भी रात में नहीं आती है नींद? डाइट में शामिल करें ये सुपर फूड

कोलकाता : अच्छी सेहत के लिए अच्छे खानपान के साथ भरपूर नींद भी जरूरी है l नींद पूरी नहीं होने की वजह से व्यक्ति के आगे पढ़ें »

कोविड रिपोर्ट का ना करें इंतजार, एमरजेंसी मरीजों को ले भर्ती

स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया निर्देश सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : स्वास्थ्य विभाग में निर्देश जारी कर सभी अस्पतालों को कहा है कि वर्तमान स्थिति को देखते हुए आगे पढ़ें »

ऊपर