घर में चाहिए सुख-शांति, तो रसोई में भूलकर भी न रखें ये चीजें

कोलकाता : हर व्यक्ति अपने घर में सुख-शांति चाहता है और कोशिश करता है कि उसके घर में लड़ाई-झगड़े और कलेश न हो। लेकिन लड़ाई-झगड़े होना स्वाभाविक है और कई बार ये बड़ा रूप ले लेते हैं। जिसकी वजह से घर का माहौल खराब हो जाता है और सुख-शांति भंग हो जाती है। क्या आप जानते हैं कि कई बार घर में कलेश की वजह वास्तु भी हो सकती है। जी, हां वास्तु के मुताबिक रसोई घर में की गई कुछ गलतियां घर में अशांति फैला सकती है। इसकी वजह से न केवल घर की शांति में खलल पड़ता है, परिवार के सदस्यों के स्वास्थ्य पर भी असर पड़ता है। इसलिए वास्तु शास्त्र के अनुसार रसोई में कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद ही जरूरी है। यहां आपको बताएंगे कि घर में शांति बनाए रखने के लिए रसोई में किन चीजों को नहीं रखना चाहिए।
रसोई ने न रखें दवाईयां : अक्सर कई लोग रसोई में दवाई रख देते हैं जो कि गलत है। वास्तु शास्त्र के मुतबिक रसोई में कभी भी दवाई नहीं रखनी चाहिए। माना जाता है कि ऐसा करने से रोग बढ़ने की संभावना होती है। स्वास्थ्य खराब होने की वजह इलाज में काफी पैसा खर्च हो जाता है। जिससे घर में आर्थिक परेशानी का भी सामना करना पड़ सकता है।
गुथा हुआ बासी आटा : कई बार लोग बचा हुआ गुथा आटा फ्रिज में रख देते हैं और बाद में उपयोग करते हैं। तो कि वास्तु शास्त्र के मुताबिक बिल्कुल सही नहीं है। ऐसा करना न केवल स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, बल्कि इससे शनि और राहु का नकारात्कम प्रभाव पड़ता है। शास्त्रों के मुताबिक भी गुथे हुए आटे को रखना गलता माना गया है।
न बनाएं रसोई में मंदिर : अक्सर कुछ घरों में देखा जाता है कि रसोई में मंदिर बना होता है। लोगों को मानना है कि रसोई मां अन्नपूर्णा का स्थान है और यहां अग्नि देव भी विराजते हैं। लेकिन वास्तु के अनुसार रसोई में कभी भी मंदिर नहीं बनाना चाहिए। क्योंकि रसोई सात्विक और तामसिक दोनों भोजन बनते हैं। मसिक भोजन में प्याज और लहसुन भी आते हैं और यदि रसोई में मंदिर है इसका नकारात्क प्रभाव पड़ता है।
घर में न रखें टूटे और चटके बर्तन : काम करते वक्त अक्सर कई बार कोई बर्तन थोड़ा सा चटक जाता है और बावजूद इसके आप उसे उपयोग में ले लेते हैं। लेकिन बता दें कि वास्तु के अनुसार टूटे और चटके बर्तन रखने से घर की आर्थिक स्थिति खराब होती है और घर के मुखिया के ऊपर कर्ज बढ़ता है। साथ ही इससे आपसी मतभेद भी बढ़ते हैं।
रसोई में न ले जाएं जूते-चप्पल : वास्तु शास्त्र के अनुसार रसोई में जूते-चप्पल पहनकर जानें से नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इससे रसोई में गंदगी और किटाणु पहुंचते हैं। इतना ही नहीं, रसोई में मां अन्नपूर्णा का निवास होता है और जूते-चप्पल पहनकर जाने से उनका अपमान होता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

सिंदूर खेला के बाद नम आंखों से विदा किया गया मां दुर्गा को

एकादशी के दिन भी कई पूजा पण्डालों के पास उमड़ी भीड़ कोलकाता : ‘बोलाे दुर्गा माई की...जय, आसछे बोछोर आबार होबे’ के नारों से विभिन्न विसर्जन आगे पढ़ें »

ऊपर