आपकी किस्मत बदल सकते हैं ये वास्तु टिप्स, घर में रखें ये चीजें

कोलकाता : वास्तु शास्त्र में हर चीज के निर्माण और रख रखाव के बारें में सही दिशा और नियम बताए गए हैं। वास्तु के नियमों को ध्यान में न रखने से वास्तु दोष उत्पन्न होता है जिससे घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होने लगता है। साथ ही जीवन में समस्याएं आने लगती हैं और तरक्की में बाधा उत्पन्न होती है। वास्तु शास्त्र में कुछ ऐसी बातें बताई गई हैं जिनको ध्यान में रखकर आप घर से नेगेटिविटी को दूर करके सफल हो सकते हैं। साथ ही आपकी किस्मत बदल सकती है और घर से अशांति दूर होकर सुख और समृद्धि का विस्तार होता है। आइए जानते हैं वास्तु के इन खास उपायों के बारे में….
घर से अशांति दूर करने से लेकर अच्छी किस्मत के लिए अपनाएं ये वास्तु टिप्स
-घर में सप्ताह में एक बार कपूर का धुआं करना शुभ माना जाता है. ऐसा करने से घर की नेगेटिविटी दूर होती है।
-घर में सरसों के तेल के दीये में लौंग डालकर लगाना शुभ होता है। मान्यता है कि ऐसा करने से घर के सदस्य स्वस्थ रहते हैं और घर से बीमारियां दूर होती हैं।
-हर गुरुवार को तुलसी के पौधे पर जल के साथ-साथ दूध भी चढ़ाना चाहिए। कहते हैं ऐसा करने से घर की अशांति दूर होती है।
-तवे पर रोटी सेंकने के पहले दूध के छींटें मारना शुभ माना जाता है। कहते हैं कि ऐसा करने से शरीर स्वस्थ रहता है।
-घर के सभी दरवाजों पर एक समान ही रेखा खींचे। घर से नेगेटिविटी दूर होती है।
– घर में सूखे और मुरझाए फूल बिल्कुल न रखें। मान्यता है कि इससे जीवन में दुख आने लगता है।
-संत-महात्माओं की तस्वीर बैठक घर में लगाएं। ऐसा करने से उनका आशीर्वाद घर के सदस्यों पर बना रहता है।
-घर में टूटी-फूटी, कबाड़ और अनावश्यक चीजों को न रखें। दक्षिण-पूर्व दिशा के कोने में कोई हरा भरा पौधा जरूर रखें।
-घर में गोल किनारों वाले फर्नीचर न रखें। मान्यता है कि ऐसा करने से रिश्तों में दरार पड़ती है।
-घर में तुलसी का पौधा पूर्व दिशा की गैलरी में या पूजा स्थान के पास रखें।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

अब जावेद अख्तर लिखेंगे खेला होबे पर गीत

दीदी ने कहा, इस स्लोगन को दीजिए गीत का रूप ममता से मिलने पहुंचे जावेद अख्तर और शबाना आजमी सन्मार्ग संवाददाता नई दिल्ली : खेला होबे स्लोगन पश्चिम आगे पढ़ें »

ऊपर