हरिद्वार में आज तीसरा शाही स्नान, कोरोना खतरे के बीच बड़ी तादाद में उमड़े श्रद्धालु

नई दिल्ली : आज बैसाखी का त्योहार है। मेष संक्रांति पर आज गंगा में डुबकी लगाने के लिए बड़ी तादाद में श्रद्धालु हरिद्वार में जमा है। सुबह से गंगा स्नान का सिलसिला जारी है। आम लोगों के स्नान के बाद तमाम अखाड़ों के संतों का शाही स्नान होगा। हरिद्वार में भी कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं। हरिद्वार में कोरोना के कल 594 नए केस आए। हरिद्वार कुंभ में श्रद्धालुओं की भीड़ पर लगातार चिंता जताई जा रही है। तमाम तरह की गाइडलाइन्स की भी बातें की गईं, लेकिन तस्वीरें बता रही हैं कि यहां कोरोना के सारे प्रोटोकॉल्स की धज्जियां उड़ चुकी हैं। सैटेलाइट तस्वीरों के मुताबिक साल 2010 में बैसाखी स्नान में 1.60 करोड़ लोग आए थे, इस बार बैसाखी के लिहाज से बहुत कम भीड़ आई है, करीब 6 लाख लोगों ने स्नान किया है।
न मास्क, न सोशल डिस्टेंसिंग
इस दौरान न कोई मास्क पहने नजर आ रहा है और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहा है। प्रशासन भी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन कराने में बेबस दिखाई दे रहा है। हालांकि, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत का कहना है कि मां गंगा के आशीर्वाद से यहां कोरोना नहीं फैलेगा।
दूसरे शाही स्नान में 30 लाख श्रद्धालुओं की डुबकी
सोमवार को हरिद्वार कुंभ का दूसरा शाही स्नान था। इस दौरान करीब 30 लाख श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगाई थी। कोरोना के संकट के बीच इतने अधिक लोगों की मौजूदगी कई सवाल खड़े कर रही थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रोजाना आ रहे हैं सैकड़ों शव, चरमरा रही है श्मशान घाटों की व्यवस्था

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना की दूसरी लहर का प्रकाेप कुछ इस कदर बढ़ा है कि श्मशान घाटों में रोंगटे खड़े करने वाली तस्वीरें देखने को आगे पढ़ें »

ट्रैफिक गार्ड के ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर का मरम्मत कराएगी पुलिस

कोविड के खिलाफ जंग में लालबाजार ने कसी कमर सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना की दूसरी लहर के दौरान शहरवासियों की हालत खराब है। अस्पताल में बेड आगे पढ़ें »

ऊपर