धनिया व जीरा के ये उपाय बदल देंगे आपकी किस्मत, एकबार आजमाकर देखें

कोलकाता : धनिया व जीरा सिर्फ खाने का स्वाद ही नहीं बढ़ाते बल्कि यह आपकी किस्मत को भी बदल सकते हैं। धनिया व जीरा में कोई औषधीय गुण पाए जाते हैं लेकिन इनके उपाय काफी कारगर साबित हो सकते हैं। इन उपायों से ना सिर्फ घर में सुख-शांति और समृद्धि आती है बल्कि कई क्षेत्रों में लाभदायक सिद्ध होते हैं और आर्थिक स्थिति को मजबूत करते हैं। हालांकि इनको कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है लेकिन ये उपाय आम प्रचलन में प्रयोग किए जाते हैं। इनको आजमाने से नकारात्मक शक्ति के साथ दरिद्रता से मुक्ति मिलती है। आइए जानते हैं धनिया व जीरा के इन उपायों के बारे में
इस उपाय से मिलता है अटका हुआ पैसा
अगर आपका पैसा कहीं अटका हुआ है या फिर आपके कार्य बन नहीं पा रहे हैं तो शुक्रवार के दिन एक कागज पर पैसे लेने वाले का नाम लिखें और उसमें थोड़ा सा सुखा धनिया डालकर पुड़िया बना दें। फिर उस पुड़िया को बहते हुए पानी इस तरह प्रवाहित करें कि कोई आपको देखे ना। इस उपाय से ना सिर्फ आपका अटका हुआ पैसा आपको मिलेगा बल्कि धन प्राप्ति के योग भी बनना शुरू हो जाएंगे।
इस उपाय से आर्थिक स्थिति होती है मजबूत
लाख कोशिश करने के बाद भी अगर पैसा नहीं टिकता या फिर आर्थिक स्थिति सही नहीं रहती तो हरा धनिए का उपाय आपकी मदद कर सकता है। हर बुधवार को हरा धनिया गाय को खिलाएं। ऐसा करने से आर्थिक स्थिति मजबूत होती है और खर्चों पर भी नियंत्रण रहता है। साथ ही हर क्षेत्र में कामयाबी मिलेगी और पैसा भी टिकने लगेगा।
इस उपाय से खत्म होती है नकारात्मक शक्ति
अगर आप के आस-पास नकारात्मक शक्ति मौजूदगी महसूस करते हैं या फिर केवल आपको वहम लगता है तो जीरा के कुछ दाने अपने ऊपर से सात बार वार लें। फिर उसको अग्नि में डाल दें, ध्यान रहे ऐसा करने से नकारात्मक शक्तियां खत्म होंगी और सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बना रहेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में रैली करने पहुंचे राहुल गांधी, बोले – बंगाल में आग लगा देंगे मोदी और अमित शाह

कोलकाता : कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी बुधवार को विधानसभा चुनाव में प्रचार करने पहली बार पश्चिम बंगाल पहुंचे। उत्तर दिनाजपुर के गोलपोखर में आगे पढ़ें »

गुजरात में बिगड़े हालात, अस्पताल के बाहर लगी एंबुलेंस की कतार

अहमदाबाद : कोरोना संक्रमण के चलते गुजरात में स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति गंभीर होती हुई दिख रही है। रोजाना बेकाबू कोरोना के मामलों के चलते आगे पढ़ें »

ऊपर