मनोकामना पूर्ति के लिए हनुमानजी की पूजा में करें आटे के दीपक का प्रयोग

कोलकाता : मंगलवार और शनिवार के दिन हनुमानजी की पूजा का विधान सदियों से चला आ रहा है। सनातन धर्म में हनुमानजी को ज्ञान और बल का देवता माना जाता है। साथ ही इनकी पूजा से व्यक्ति भयमुक्त रहता है और हर मनोकामना पूरी होती है। इसलिए हनुमान चालीसा का पाठ करना बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। शास्त्रों में बताया गया है कि हनुमानजी की पूजा में आटे के दीपक से विधिवत पूजा करनी चाहिए। अन्य दीपक की तुलना में आटे का दीपक बहुत ही पवित्र और शुद्ध माना जाता है। आइए जानते हैं हनुमानजी की पूजा में आटे के दीपक का क्या महत्व है।
आटे की दीपक से मिलती है विशेष कृपा
मान्यताओं के अनुसार, आटे का दीपक बहुत शुभ माना जाता है। आपने देखा होगा कि मांगलिक कार्यों में पंडित-पुजारियों द्वारा भगवान के सामने आटे का दीप जलाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि आटे के दीपक से प्रभु प्रसन्न होते हैं और उनका आशीर्वाद प्राप्त होता है। हनुमानजी को प्रसन्न करने के लिए भी उनकी पूजा करते समय आटे के दीपक का बड़ा महत्व है और इससे आपको कई लाभ भी प्राप्त हो सकते हैं।
दीपक से पूरे होते सभी कार्य
आपकी कोई मनोकामना है या आप सिद्धि प्राप्त करना चाहते हैं तो आटे का दीपक बनाकर उसमें बत्ती लगाकर हनुमान मंदिर में जाकर उसे प्रज्वलित करना चाहिए। इससे हनुमानजी की विशेष कृपा आपको प्राप्त होती है और आपके सारे कार्य निर्विघ्न पूरे होने की संभावना रहती है।
शनि दोष से भी मिलती है मुक्ति
मंगलवार या शनिवार को हनुमान मंदिर में जाकर या अपने घर के मंदिर में आटे का दीपक जलाने से शनि ग्रह भी शांत रहते हैं। इससे आपके जीवन में आ रही कई समस्याएं दूर होने लगती हैं। साथ ही शनि की साढ़ेसाती व ढैय्या का अशुभ प्रभाव भी कम हो जाता है।
मंगल दोष से मिलती है मुक्ति
मंगलवार को हनुमानजी का वार माना जाता है और इस वार से मंगल ग्रह का संबंध भी है। कुंडली में मंगल की प्रतिकूल स्थिति आपके जीवन में कई समस्याएं ला सकती है। इसके साथ ही आपके वैवाहिक जीवन पर भी इसका बुरा प्रभाव पड़ सकता है। इसलिए यदि आप मंगल ग्रह को शांत करना चाहते हैं तो मंगलवार के दिन आटे के दिए में चमेली का तेल डालकर दीप प्रज्वलित करें और उसके बाद हनुमान चालीसा का पाठ करें तो आपके जीवन में आ रही विघ्न बाधाएं दूर होने लगती हैं।
मनोकामना होती है पूरी
आप अपनी मनोकामना को पूरा करना चाहते हैं तो पांच मंगलवार तक हनुमान मंदिर में आटे का पांच मुखी दीपक जलाएं। ऐसा करने से न केवल आपकी मनोकामना पूरी होती है बल्कि कुंडली में मौजूद मंगल दोष का असर भी कम होने लगता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

चाहूं तो 3 महीने में बंगाल भाजपा को खत्म कर दूं लेकिन ऐसा नहीं करूंगा – अभिषेक

तृणमूल ऑफिस में भाजपा नेताओं की लगी है कतार तिलमिलाइये मत, असली खेल तो दिल्ली में होगा सन्मार्ग संवाददाता मुर्शिदाबाद : तृणमूल के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी ने आगे पढ़ें »

ऊपर