झारखंड विधान सभा में भाजपा विधायकों का हंगामा तीसरे दिन भी जारी

रांची : झारखंड विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष की मान्यता नहीं दिए जाने से नाराज भाजपा सदस्यों ने मंगलवार को बजट सत्र के लगातार तीसरे दिन जमकर हंगामा किया।
सदन की कार्यवाही शुरू होते ही भाजपा विधायक बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष के रूप में मान्यता देने की मांग पर हंगामा शुरू करते हुए वेल में आ गये। इस दौरान भाजपा विधायक खासकर बोकारो से पार्टी विधायक बिरंची नारायण की सभाध्यक्ष रवींद्रनाथ महतो ने कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि विधानसभा कोई रंगमंच या आर्केस्ट्रा मंच नहीं है। उन्होंने भाजपा विधायकों से व्यवस्था का मजाक नहीं बनाने का अनुरोध करते हुए कहा कि यदि चीजें इसी तरह चलती रहेंगी तो न्याय नहीं मिल सकता। दूसरी तरफ, सत्ता पक्ष के इरफान अंसारी, उमाशंकर अकेला, बैद्यनाथ राम समेत कई विधायक सदन के वेल में आ गये और नारेबाजी करते हुए भाजपा पर जानबूझकर सदन नहीं चलने देने का आरोप लगाया। इस पर सभाध्यक्ष रवींद्रनाथ महतो ने कहा कि विधायकों को सदन को हंसी का पात्र नहीं बनाना चाहिए। विधायकों को खुद ही सदन की शोभा बढ़ानी चाहिए। उन्होंने कहा कि मामले में न्याय करने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है। उन्होंने कहा कि वह केवल नियमों के अनुसार ही निर्णय ले सकते है। महतो ने विधायकों से सदन को ठीक ढंग से चलने देने का आग्रह करते हुए कहा कि पिछले दो दिनों से हंगामे के कारण सदन में गतिरोध कायम है। उन्होंने कहा कि सदन में समुचित कामकाज को सुनिश्चित करें, जिससे लोगों के प्रश्न उठाये जा सके। इस गतिरोध को तोड़ने के लिए एक सर्वदलीय बैठक बुलाई जाएगी। इसके बाद सभाध्यक्ष ने अपने कार्यालय में सर्वदलीय बैठक आयोजित करने के लिए 11ः13 बजे 20 मिनट के लिए सदन की कार्यवाही को स्थगित कर दिया। बैठक की समाप्ति के बाद सभाध्यक्ष ने वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव को वित्त वर्ष 2020-21 के लिए राज्य के वार्षिक बजट को सदन के पटल पर रखने को कहा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वनडे रैंकिंग में कोहली व रोहित का जलवा बरकरार

दुबई : आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) की वनडे बल्लेबाजों की रैंकिंग में भारतीय कप्तान विराट कोहली और सीनियर बल्लेबाज रोहित शर्मा ने क्रमश: पहला और आगे पढ़ें »

चतरा: जेल अदालत का हुआ आयोजन, 4 बंदी रिहा

चतरा : राष्ट्रीय विधिक व राज्य विधिक सेवा प्राधिकार के निर्देशानुसार जेल अदालत का आयोजन किया गया। गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में स्थानीय मण्डल कारा आगे पढ़ें »

ऊपर