स्कूल की जांच करने पहुंचे एबीएसए को शिक्षिका ने पति के साथ मिलकर बनाया बंधक

उत्तर प्रदेश : उत्तर प्रदेश के श्रावस्ती जिले के धुसवां प्राथमिक विद्यालय में शिक्षिका के समय से स्कूल न पहुंचने की शिकायत पर जांच करने पहुंचे खंड शिक्षा अधिकारी बुरी तरह फंस गए। बताया गया है कि स्कूल की शिक्षिका और उसके पति ने खंड शिक्षा अधिकारी को बंधक बना लिया। कई घंटों तक उन्हें स्कूल में बिठाकर रखा गया। इस दौरान शिक्षिका से खंड शिक्षा अधिकारी हाथ जोड़कर माफी मांगते नजर आए। श्रावस्ती जिले से शिक्षिका की दबंगई का मामला प्रकाश में आया है। यहां पर एक महिला शिक्षक ने 22 जुलाई को विद्यालय चेक करने पहुंचे खंड शिक्षा अधिकारी को बंधक बना लिया। कई घंटों तक खंड शिक्षा अधिकारी को विद्यालय में ही रोककर रखा गया। इस दौरान शिक्षिका ने खंड शिक्षा अधिकारी को अपमानित किया। आरोप है कि शिक्षिका के पति ने खंड शि​क्षा अधिकारी के साथ ​​हाथापाई कर दी।
खंड शिक्षा अधिकारी इस पूरी घटना में बेहद लाचार नजर आए। वे हाथ जोड़कर शिक्षिका से माफी मांगते दिखे, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वहीं अब खंड शिक्षा अधिकारी की तहरीर पर पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। श्रावस्ती जिले में तैनात बेसिक शिक्षाधिकारी इस वक्त अवकाश पर हैं। वहीं खंड शिक्षाधिकारी कृष्ण कुमार राणा को प्रभारी बीएसए बनाया गया है। 22 जुलाई को खंड शिक्षा अधिकारी व प्रभारी बीएसए गिलौला ब्लॉक क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय धुसवां में करीब साढ़े 9 बजे जांच करने पहुंचे थे। यहां पर तैनात शिक्षिका शीला कुमारी अनुपस्थित मिलीं। प्रभारी बीएसए के द्वारा शिक्षिका से फोन पर समय से विद्यालय न आने का कारण पूछा, तो शिक्षिका ने रास्ते में होने की बात बताई। शिक्षिका 10 बजे पति अमित कुमार के साथ विद्यालय पहुंचीं। शिक्षिका प्रभारी बीएसए पर ये आरोप लगाते हुए भड़क गईं कि उनके द्वारा फोन करने के चलते उनका एक्सीडेंट हो गया। आरोप है कि इस दौरान शिक्षिका के द्वारा प्रभारी बीएसए को अपमानित भी किया गया। साथ ही पति के द्वारा हाथापाई भी की गयी। प्रभारी बीएसए महिला शिक्षिका से हाथ जोड़कर माफी मांगते हुए दिखाई पड़े।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

खिलाड़ी हूं, खेलना मेरा जुनून है, जो मौका देगा उसका साथ दूंगा : बाबुल

बाेले, जिसने प्ले 11 में खेलने का मौका दिया वहां खड़ा हूं मेरे लिए ममता बनर्जी ही लोकप्रिय हैं सुकांत को भावी योजनाओं के लिए शुभकामनाएं सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता आगे पढ़ें »

ऊपर