उन्नाव केस: पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा- टूटी हुई गर्दन, सिर पर चोट, पीड़िता के साथ हुई हैवानियत आई सामने

उन्नाव :  उन्नाव में बीते दो महीने से गायब लड़की का शव मिलने के बाद से उत्तर प्रदेश की सियासत तेज हो गई है। मृतका की मां ने सपा सरकार में राज्यमंत्री और सहकारी विभाग के चेयरमैन रहे स्व. फतेहबहादुर के बेटे राजू सिंह पर बेटी के अपहरण का आरोप लगाया था। अब इस मामले में मृतका की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ चुकी है। जिसमें कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। आगे पढ़ें क्या है पोस्टमार्टम रिपोर्ट….पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ये बात सामने आई है कि लड़की की मौत गला दबाने की वजह से हुई है। यही नहीं उसकी गर्दन की हड्डी भी टूटी मिली है और सिर में भी दो घाव के निशान हैं। लड़की का पोस्टमार्टम तीन डॉक्टरों के एक पैनल ने किया है, जिसके बाद रिपोर्ट में ये बात सामने आईं हैं।
उन्नाव शहर कोतवाली क्षेत्र की कांशीराम कालोनी से दो माह पहले लापता हुई युवती की हत्या कर शव को गड्ढे में दबा दिया गया था। हत्या किसी और ने नहीं, युवती को अगवा करने के मामले में जेल भेजे गए पूर्व राज्यमंत्री के बेटे ने अपने एक साथी के साथ मिलकर की थी। स्वाट टीम ने हत्यारोपी के दोस्त को उठाया तो उसने सब कुछ उगल दिया। गुरुवार को पुलिस ने उसकी निशानदेही पर पूर्व राज्यमंत्री के प्लाट में बने गड्ढे से शव को बाहर निकलवाकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पूर्व राज्यमंत्री के बेटे ने युवती की किसी दूसरे से नजदीकी की आशंका पर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी थी। इसके बाद शव को गड्ढे में दफना दिया था। इधर, गुरुवार रात एसपी राजेश द्विवेदी ने इस मामले में कोतवाली प्रभारी अखिलेश पांडेय को निलंबित कर दिया। साथ ही दर्ज एफआईआर में हत्या की धारा की भी बढ़ा दी।
कांशीराम कालोनी निवासी मुकेश की बेटी पूजा (22) आठ दिसंबर 2021 को लापता हो गई थी। मां रीता ने पूर्व राज्यमंत्री दिवंगत फतेह बहादुर सिंह के बेटे कल्याणी देवी निवासी अरुण कुमार उर्फ रजोल सिंह पर बेटी को अगवा करने का आरोप लगाया था। पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर मामला ठंडे बस्ते में डाल दिया था
आला अफसरों के आदेश के बाद 10 जनवरी को पुलिस ने रजोल के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज किया था। आरोपी पर कार्रवाई न होने पर पूजा की मां ने 24 जनवरी को लखनऊ में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के काफिले के सामने आत्मदाह का प्रयास किया था। मामले के तूल पकड़ने पर पुलिस ने आरोपी रजोल को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। साथ ही पुलिस की दो टीमें युवती की तलाश में जुटी थीं। कॉल डिटेल में पूजा व रजोल सिंह की नजदीकी की पुष्टि हुई थी। रजोल की कॉल डिटेल खंगालने के बाद पुलिस के हाथ हरदोई जिले के नयागांव मुबारकपुर निवासी सूरज सिंह का नंबर हाथ लगा। इस पर पुलिस ने वर्तमान में खजुरिहा बाग नई बस्ती में रहने वाले सूरज को उठाकर पूछताछ की तो उसने सब कुछ उगल दिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

तृणमूल में सब चोर नहीं, अच्छे लोग मेरे संपर्क में : मिठुन

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य की सत्ताधारी पार्टी में सब ‘चोर’ नहीं हैं, कुछ नेता अच्छे भी हैं और उन अच्छे नेताओं के साथ भाजपा संपर्क आगे पढ़ें »

शुभेंदु के बाद अब सुकांत ने दिसम्बर का डेडलाइन तय किया

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शुभेंदु अधिकारी व दिलीप घोष के बाद अब प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने दावा किया कि दिसम्बर महीने तक तृणमूल सरकार आगे पढ़ें »

ऊपर