परमाणु क्षमता वाली के-4 मिसाइल का अंडरवाटर टेस्ट रहा सफल

missile

नई दिल्ली : परमाणु क्षमता से युक्त के-4 मिसाइल का रविवार की सुबह को पानी के नीचे का परीक्षण (अंडरवाटर टेस्ट) सफल रहा। सरकारी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, आंध्र प्रदेश के तट से 3500 किलोमीटर की रेंज वाली इस मिसाइल को पानी के नीचे के मंच से दागा गया। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने इस मिसाइल का निर्माण भारत में बनी अरिहंत श्रेणी के परमाणु पनडुब्बियों के लिए किया है जो पनडुब्बी से दुश्मन के ठिकानों को निशाना बनाने में सक्षम है। के-4 बैलिस्टिक मिसाइल की गति के कारण कोई भी एंटी-बैलिस्टिक मिसाइल डिफेंस सिस्टम इसे ट्रैक नहीं कर सकता है। परमाणु क्षमता से संपन्न पनडुब्बियों पर तैनाती से पहले भारत इस मिसाइल के अभी और परीक्षण करेगा।

के-4 में है ये खासियत

के-4 परीक्षण के साथ, भारत अमेरिका, रूस, फ्रांस, ब्रिटेन और चीन जैसे देशों में भी शामिल हो गया है, जो कि जल-थल-नभ से परमाणु क्षमता वाली मिसाइल दागने में सक्षम हैं। के-4 की बात करें तो यह अपनी तकनीक और हाइपरसोनिक गति (6 हजार किमी / घंटा से अधिक) के कारण विशेष है। इस गति के कारण, एंटी-बैलिस्टिक मिसाइल रक्षा प्रणालियों को ट्रैक कर नष्ट नहीं किया जा सकता है।

के-4 के बाद बीओ-5 मिसाइल का होगा परीक्षण

परमाणु क्षमता से संपन्न पनडुब्बियों पर तैनाती से पहले भारत इस मिसाइल के अभी और परीक्षण करेगा। अभी भारत में केवल एक आईएनएस अरिहंत चालू है। के-4 उन दो अंडरवाटर मिसाइलों में से एक है, जिन्हें भारत नौसेना के लिए तैयार कर रहा है। दूसरी मिसाइल का नाम बीओ-5 है और उसकी रेंज 700 किलोमीटर है। परमाणु हमला करने में सक्षम इस मिसाइल की जद में पाकिस्तान, चीन एवं दक्षिण एशिया के कई देश आ गए हैं। रिपोर्टों के अनुसार, के-4 के परीक्षण के कई प्रयास दो साल के भीतर विफल हो गए थे। इसे पिछले साल नवंबर में परीक्षण के लिए भी निर्धारित किया गया था, लेकिन गंभीर चक्रवात बुलबुल के कारण इसे स्थगित करना पड़ा, जो बंगाल की खाड़ी से उठा था। डीआरडीओ ने भी के-4 परीक्षण को सफल बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी, क्योंकि के-4 परीक्षण के बाद ही के-5 बनाने पर विचार कर रहा है। के -5 की रेंज 5 हजार किलोमीटर होगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मार्ग एक्सक्लूसिव :आर्थिक पैकेज से हर वर्ग को राहत, न अन्न की कमी, न धन की : ठाकुर

 विशेष संवाददाता, कोलकाता : कोविड-19 संकट के आघात से देश और देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। आगे पढ़ें »

पश्चिम बंगाल में बेरोजगारी की दर देश की तुलना में कम: सीएमआईई आंकड़े

कोलकाता : मुंबई के शोध संस्थान सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकनॉमी (सीएमआईई) के अनुसार पश्चिम बंगाल में बेरोजगारी की दर देश की तुलना में कम आगे पढ़ें »

एसबीआई ने 2019-20 की चौथी तिमाही में 3,581 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया

कोरोना ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम को ​लिया अपने शिकंजे में, हुआ संक्रमित

भारत के साथ सीमा विवाद को उचित ढंग से सुलझाने के लिए प्रतिबद्ध : चीन

फायदेमंद है संतुलित मात्रा में कार्बोहाइड्रेट का सेवन, अत्यधिक मात्रा पहुंचा सकता है नुकसान

भाजपा नेत्री सोनाली फोगाट ने मार्केट कमेटी के कर्मचारी को चप्पलों से पीटा

javdekar

भारत जलवायु प्रतिबद्धताओं पर खरे उतरने वाले देशों में शामिल है: प्रकाश जावडेकर

मरकज मामले में सीबीआई जांच की जरूरत नहीं: केंद्र

trump

प्रदर्शनकारियों पर हमले के मामले में ट्रंप पर मुकदमा

लॉकडाउन के दौरान इंस्टाग्राम से कमाई करने वाले खिलाड़ियों की सूची में कोहली एकमात्र क्रिकेटर

ऊपर