पीरियड्स के दर्द से मिलेगा आराम, सोते समय रखें ऐसी पोजीशन

कोलकाता : पीरियड्स के दिन महिलाओं के लिए मुश्किल भरे होते हैं। किसी को कमर या पैर में दर्द, तो किसी को कमजोरी और थकावट महसूस होती है। लेकिन पीरियड आने पर अधिकतर महिलाओं को पेट में ऐंठन की टेंशन ज्यादा रहती हैं। कई महिलाओं को हर महीने पीरियड्स के दिनों में ऐंठन से तेज दर्द भी होता है। इसके लिए वे कई तरकीबें भी अपनाती हैं, जो वास्तव में राहत देती हैं। इन सबके बजाय अगर इन दिनों में अपनी सोने की पोजीशन जान लें, तो बहुत जल्दी इन पीरियड क्रैंप से आपको छुटकारा मिल जाएगा।
नींद आपके दिमाग और शरीर को आराम देने का शानदार तरीका है। जब ऐंठन से राहत पाने की बात हो, तो ये चमत्कार भी कर सकती है। यहां हम आपको ऐंठन को रोकने के लिए कुछ आरामदायक स्लीपिंग पोजीशन बताने जा रहे हैं। जिन्हें आप जरूर आजमाकर देखें। ऐसा करने से ऐंठन को रोकने में बहुत मदद मिलेगी।
​घुटनों के नीचे तकिया लगाकर सोएं
कभी-कभी आप घुटनों के नीचे तकिया लगाकर सोते होंगे। लेकिन पीरियड के दिनों में ऐंठन हो तो भी इस पोजीशन में सोना बहुत फायदेमंद है। इसके लिए सबसे पहले एक गोल तकिया लें। फिर पीठ के बल लेट जाएं और तकिए को अपने घुटनों के नीचे रख दें। इस दौरान आपके पैर एकदम सीधे होने चाहिए।
ध्यान रखें कि ये बहुत ऊंचे या नीचे न हों। नहीं तो ये आपके ब्लड फ्लो को प्रभावित कर सकता है। यदि आपके पास गोल तकिया नहीं है, तो आप तौलिया का रोल बनाकर घुटनों के नीचे रख सकते हैं। कुछ ही मिनटों में आप मांसपेशियों में आराम महसूस करेंगे।


​फेटल पोजीशन में सोएं
पीरियड्स के दिनों में ऐंठन से बचने के लिए फेटल पोजीशन में सोना बहुत अच्छा है। यह स्थिति गर्भ में भ्रूण के होने जैसी होती है। मूलरूप से जब आप इस स्थिति में सोते हैं, तो आपके पेट के आसपास की मांसपेशियों पर दबाव पड़ता है। जिससे पेट को बहुत आराम मिलता है। ऐसे में दर्द और ऐंठन कम होती है।
इसके अलावा यदि आप इस अवस्था में सोते हैं, तो लीकेज की संभावना भी नहीं रहती। पीरियड ट्रेकिंग ऐप के द्वारा किए गए शोध के अनुसार, भ्रूण की स्थिति में सोते हुए अपने पैरों को एकसाथ दबाया जाए, तो हैवी लीकेज को रोकने में बहुत मदद मिलती है।


चाइल्ड पोज में सोएं
क्रैंप से लड़ने के लिए चाइल्ड पोज एक प्रभावी तरीका है। यह भ्रूण की स्थिति के जैसा है, लेकिन है थोड़ा अलग। चाइल्ड पोज में सोने से आपको बहुत फायदा मिलेगा। इसमें बच्चे की मुद्रा में सोना, जिसमें आगे की तरफ मुड़ा होना और अपने सिर को घुटनों पर रखकर अपने नीचे कर्ल करवाना ऐंठन से राहत दिला सकता है। इससे आपकी मांसपेशियों में राहत मिलेगी और अच्छी नींद आएगी। इसलिए जब भी आपको ऐंठन से बहुत दर्द होने लगे, तो चाइल्ड पोज में सोने की कोशिश करें। इससे पीरियड्स में होने वाले सिरदर्द को कम करने में मदद मिलेगी और ऐंठन भी दूर हो जाएगी।
पीरियड के दिनों में ये सोने के तरीके ऐंठन से राहत तो दिलाएंगे ही, लेकिन इसके साथ आपको सोने जाने से पहले कुछ तरीके भी अपनाने चाहिए। जैसे सोने से पहले नहाना, एक हीटिंग पैड का यूज करना, कमरे में तापमान को विनियमित करना और एक कप गर्म चाय पीने से आपको ऐंठन से राहत मिलेगी और आप बेहतर महसूस करेंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ब्रेकिंग : अज्ञात युवकों ने तृणमूल कर्मी को मारी गोली

हावड़ा : शालिमार में कुछ अज्ञात युवकों ने तृणमूल कर्मी को गोली मारी। घटना के बाद से इलाके में सनसनी का माहौल है। मंगलवार रात आगे पढ़ें »

राहुल बोले- कोरोना के लिए बनाई नोटबंदी जैसी रणनीति

नई दिल्ली : कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी केंद्र की मोदी सरकार पर लगातार हमलावर हैं। कोरोना से बिगड़ती स्थिति को देखते हुए वे आगे पढ़ें »

ऊपर