25 दिन तक लखीमपुर खीरी में बंधक बनी रहीं दो सगी बहनें फिर…

गोरखपुर : लखीमपुर खीरी के धौरहरा कस्बे में गोरखपुर की दो सगी बहनें पिछले 25 दिन से बंधक थी। मंगलवार की सुबह वह किसी तरह बंधनमुक्त होकर भाग निकली और पास के गांव में जाकर छुप गई। ग्रामीणों को बहनों ने आपबीती बताई तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने दोनों बहनों को अपनी सुपुर्दगी में ले लिया है। पुलिस उनको थाने ले गई और पूरा मामला जानने का प्रयास कर रही है।

गोरखपुर जिले के जैतपुर चौराहा निवासी सुदर्शन की बेटी रिंकी (16) और सरिता (12) करीब एक महीना पहले अपने मौसी के घर लखनऊ आई थी। लखनऊ में करीब 5 दिन रुकने के बाद वह अपने घर वापस गोरखपुर जा रही थी। रिंकी ने बताया कि लखनऊ से रास्ता भटक गई और लखीमपुर आ गई। लखीमपुर में उनको एक महिला मिली जो उनको धौरहरा ले आई। बताया जाता है कि दोनों बहनों के पास जो पैसे थे वह भी इस महिला ने ले लिए और अपने घर ले जाकर दोनों को बंधक बना लिया। रिंकी के अनुसार वह करीब 25 दिन से उस महिला के घर बंधक थी। महिला का घर धौरहरा कस्बे में है। रिंकी ने बताया कि मंगलवार की अलसुबह वह खुद को बंधनमुक्त कराकर घर से भागने में कामयाब हुई। वह पास के गांव में जाकर छुप गई। यहां एक महिला इन दोनों बहनों को मिली। इस महिला ने दोनों बहनों को अपने पड़ोसी के घर में छुपा दिया। कुछ देर बाद इसकी भनक लोगों को लगी तो जानकारी पुलिस को दी गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों बहनों को बरामद कर लिया है और अपने साथ कोतवाली ले गई है। पुलिस दोनों से पूछताछ कर रही है। अभी तक उन लोगों का भी कुछ पता नहीं चल पाया है जिन लोगों ने इन दोनों बहनों को बंधक बनाकर रखा था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोरोना से लड़ाई में ये चीजें देंगी शरीर को ताकत

केंद्र ने जारी किया डाइट प्लान नई दिल्ली : कोरोना वायरस की दूसरी लहर अभी थमी नहीं कि एक्सपर्ट ने तीसरी लहर को लेकर भी चेतावनी आगे पढ़ें »

लापरवाही : बाजारों में नहीं दिख रही दो गज की दूरी

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। राज्य सरकार की तरफ से कई तरह की पाबंदिया भी की गयी है। आगे पढ़ें »

ऊपर