यूपी में आसमान में उड़ती दिखी ‘ट्रेन’

मलिहाबादः उत्तर प्रदेश के लोग सोमवार शाम को आसमान में रोशनी की रहस्यमयी ‘चलती ट्रेन’ देखकर दंग रह गए। जबकि मलिहाबाद के MAAL प्रखंड के गोलापुर गांव के कुछ निवासी आसमान में बहुत लंबी रोशनी का एक तार देखकर आतंकित हो गए।  सोमवार रात को लोग इसे रहस्यवादी शक्ति या पृथ्वी से प्रस्थान करने वाली आत्माएं मान कर  घबरा गए और सोमवार की रात को अपनी छतों से प्रार्थना करना शुरू कर दिया।दिखने में बिलकुल एक रौशनी जैसी जगमगाती  हुई  चलती  ट्रेन की तरह दिख रही थी ।

उत्तर प्रदेश से आकाश में दिखाई देने वाली डॉटेड लाइन की तस्वीरें और वीडियो काफी वायरल हो रही हैं।  श्रावस्ती, हरदोई, लखनऊ, कानपुर, कन्नौज और मलिहाबादव में रोशनी की रहस्यमयी रोशनी देखी गई।

ये दृश्य देख जब  कुछ ने सोचा कि यह एक खगोलीय घटना थी, दूसरों ने सोचा कि क्या यह यूएफओ था। लेकिन असलियत तो कुछ और ही थी।  असल में, 4 सितंबर को, एलन मस्क के खुद के स्पेसएक्स कंपनी ने अपने स्टारलिंक इंटरनेट उपग्रहों के एक और बड़े बैच के साथ एक स्पेस टग को ऊपर भेजा था। एक स्पेसएक्स फाल्कन 9 रॉकेट फ्लोरिडा के पूर्वी तट पर केप कैनावेरल स्पेस फोर्स स्टेशन से 51 स्टारलिंक इंटरनेट उपग्रहों को ऑर्बिट में भेजा गया । स्पेसएक्स पहले ही 3,000 से अधिक स्टारलिंक सैटेलाइट्स  को ऑर्बिट  में भेज चुका है, दूरस्थ क्षेत्रों के लिए लक्षित ब्रॉडबैंड सेवा के लिए एक विशाल नक्षत्र बनाने के प्रयास में। स्टारलिंक सेटेलाइट्स  हमेशा दिखाई नहीं देते हैं और लॉन्च होने के तुरंत बाद उनकी दृश्यता सबसे अच्छी होती है। ऑर्बिट  में अपनी अंतिम ऊंचाई और स्थिति तक पहुंचने के साथ ही वे धुंधले  हो जाते हैं। यह एक बहुत ही सामान्य दृश्य है जो अक्सर देखा जा सकता है।  इस कंपनी का उद्देश्य है अंतरिक्ष से  लेकर पृथ्वी के रिमोट एरियाज में हाई स्पीड इंटरनेट सर्विस प्रदान करना।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

माल हादसे के मृतकों के परिजनों को क्षतिपूर्ति, दिए जाएंगे…..

मालबाजार: माल नदी का जल स्तर बढ़ने से आयी बाढ़ की चपेट में मृतकों के परिजनों को क्षतिपूर्ति की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्यालय की आगे पढ़ें »

मो. अली पार्क के निकट पूजा ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी की अस्वाभाविक मौत

कोलकाता : महा दशमी की सुबह मो. अली पार्क के निकट पूजा ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी की अस्वाभाविक परिस्थितियों में मौत हो गई। घटना जोड़ासांको आगे पढ़ें »

ऊपर