आज है ‘वर्ल्ड डायबिटीज डे’, पढ़ें इस दिन का महत्व

कोलकाताः हर साल ‘वर्ल्ड डायबिटीज डे 2022’ 14 नवंबर को सर फ्रेडरिक बेंटिंग की जन्म तिथि पर मनाया जाता है। सर फ्रेडरिक बेंटिंग ने चार्ल्स हरबर्ट के साथ मिल कर इंसुलिन हार्मोन की खोज की थी। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, आज लगभग 463 मिलियन लोग डायबिटीज से जूझ रहे हैं। इन 90% डायबिटीज के मरीजों को टाइप-2 डायबिटीज है। हेल्थ प्रोफेशनल के एक अनुमान के अनुसार, इतनी तेजी से डायबिटीज के बढ़ते केस व्यक्ति की समय से पहले मृत्यु का कारण बन सकते हैं, इसलिए इस बीमारी के बारे में जागरूकता फैलाना काफी जरूरी है, जिससे लोग बचाव के टिप्स अपना सकें। डायबिटीज होने पर उसे कंट्रोल कर सकें।

वर्ल्ड डायबिटीज डे 2022 की थीम
वर्ल्ड डायबिटीज डे की इस साल की थीम एक्सेस टू डायबिटीज एजुकेशन है। डायबिटीज एक तरह का मेटाबोलिक डिसऑर्डर होता है। इस बीमारी के बारे में शिक्षा के माध्यम से जागरूकता फैलाई जा सकती है, इसलिए कुछ डायटरी बदलावों और नियमित रूप से एक्सरसाइज करके व्यक्ति अपने आप को इस बीमारी के रिस्क से बाहर ला सकता है।

वर्ल्ड डायबिटीज डे का इतिहास
इंटरनेशनल डायबिटीज फाउंडेशन द्वारा ही इस दिन को तय किया गया था। 1991 से इसे वैश्विक दिन के रूप में यूएन से पहचान मिली और सबको यह समझ आने लगा कि यह एक काफी गंभीर बीमारी है।

वर्ल्ड डायबिटीज डे का महत्त्व
डायबिटीज डे को मनाना इसके बारे में जागरूकता फैलाने के लिए जरूरत है, ताकि सब लोगों को इसके लक्षणों और कब से उपचार करवाना शुरू करना है, इस बारे में पता चल सके। इस समय लोगों के पास डायबिटीज से लड़ने के लिए हेल्थ केयर सुविधा है या नहीं, इस बारे में भी जानकारी दी जाती है।

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

विधाननगर एमपी एमएलए अदालत में पेश हुए सांसद दिलीप घोष

सन्मार्ग संवाददाता विधाननगर : रामनवमी के दिन बिना अनुमति के खड़गपुर एक रैली निकालने के मामले में शनिवार को भाजपा सांसद दिलीप घोष विधाननगर के एमपी आगे पढ़ें »

नदियाल में युवक का गला कटा शव मिला

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : नदियाल थानांतर्गत ऊंचामाठ इलाके के एम्ब्रायडरी वर्कशॉप से एक युवक का गला कटा शव बरामद किया गया। मृतक का नाम जमशेद अख्तर आगे पढ़ें »

ऊपर