आज है मासिक शिवरात्रि, भगवान शिव को समर्पित इस व्रत की जानें विधि

कोलकाताः शिव भक्तों के लिए शिवरात्रि का व्रत बहुत महत्व रखता है। इस बार साल की पहली मासिक शिवरात्रि 20 जनवरी 2023 , शुक्रवार के दिन यानी आज है। शिव भक्त इस दिन व्रत रखें। मान्यता के अनुसार इस व्रत को अगर कुंवारी कन्याएं रख रही है तो उन्हें मानचाहे वर की प्राप्ति होती है, साथ ही विवाह में आ रही सारी दिक्कतें और रुकावटें दूर होती है।

मासिक शिवरात्रि को लेकर एक बात ध्यान में रखें। अगर किसी भी जातक को इस व्रत की शुरुआत करनी है तो आप किसी भी मासिक शिवरात्रि से इस व्रत की शुरुआत नहीं कर सकते। मासिक शिवरात्रि व्रत के प्रारंभ महाशिवरात्रि व्रत से किया जाता है। इस व्रत को कोई भी रख सकता है।

भोलेनाथ को समर्पित इस व्रत को रखने की भी एक विधि है, और पूरे विधि विधान से किया गया व्रत सम्पूर्ण फल प्रदान करता है। तो चलिये आपको बताते हैं मासिक शिवरात्रि व्रत को रखने की पूरी विधि।

मासिक शिवरात्रि व्रत की विधि

  • शिवरात्रि के दिन सुबह जल्द उठ कर स्नान कर के साफ स्वच्छ वस्त्र धारण करें।
  • मंदिर जाकर शिव परिवार की पूजा करें।
  • शिवलिंग का रुद्राभिषेक करें, रुद्राभिषेक दूध, दही,गंगा जल, घी, शक्कर, चीनी से करें।
  • मंदिर में भोलेनाथ की मूर्ति के सामने दीपक जलाएं।
  • भोलेनाथ के साथ माता पार्वती की भी पूजा करें।
  • साथ ही गणेश जी की भी पूजा करें।
  • ओम नमः शिवाय मंत्र का जाप करें।
  • मासिक शिवरात्रि के दिन शिव चालीसा , शिवपुराण, शिव स्तुति का पाठ करें।
  • इस दिन आप शाम के समय फलहार खा सकते है।
  • व्रत के अगले दिन भगवान शिव की पूजा अर्चना करें और दान करें के बाद अपना व्रत खोलें।

तो आप भी मासिक शिवरात्रि का व्रत पूरे विधि विधान के साथ रखें, भोलेनाथ आप की हर मनोकामना को पूर्ण करेंगे।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

रेडियो के जरिए लोगों को साइबर क्राइम के प्रति जागरूक कर रही है कोलकाता पुलिस

अगले दो महीने तक रेडियो पर चलेगा विज्ञापन सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोलकाता पुलिस के साइबर सेल की ओर से महानगर में विभिन्न तरह के साइबर क्राइम आगे पढ़ें »

इन 5 मौकों पर घर में कभी नहीं बनानी चाहिए रोटी, टूट पड़ता है दुखों का पहाड़

कोलकाता : आपने एकादशी पर अक्षत यानी चावल न बनाने के शास्त्रीय नियमों के बारे में तो सुना ही होगा। लेकिन क्या आपको पता है आगे पढ़ें »

ऊपर