मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने शुक्रवार के दिन करें ये उपाय, दरिद्रता होगी दूर

कोलकाता : हफ्ते का हर एक दिन किसी न किसी देवी-देवता का माना गया है। धार्मिक मान्यता के अनुसार शुक्रवार का दिन देवी लक्ष्मी का दिन माना जाता है। इस दिन धन की देवी लक्ष्मी जी की विधि-विधान से पूजा करना चाहिए। कहते हैं कि मां लक्ष्मी की शुक्रवार  को पूजा करने से उनकी कृपा सदा बनी रहती है। अगर भक्त की पूजा से मां प्रसन्न हो जाएं तो उसकी सारी दरिद्रता दूर कर देती हैं और जीवन भर धन-धान्य की कोई कमी नहीं रह जाती है।
दरिद्रता का कष्ट झेल रहे लोगों को देवी लक्ष्मी की हर शुक्रवार पूजा करनी चाहिए। इसके अलावा कुछ उपाय हैं जिन्हें शु्क्रवार के दिन कर लक्ष्मी जी को प्रसन्न किया जा सकता है। आइए इनके बारे में जानें..
1. दरिद्रता से जूझ रहे लोगों को शुक्रवार को माता महालक्ष्मी के मंदिर जाना चाहिए।उन्हें लाल वस्त्र अर्पित करना चाहिए। मां को लाल बिंदी, सिंदूर, लाल चुनरी और लाल चूड़िया अर्पित करना भी शुभ माना गया है। कहते हैं इससे देवी मां की कृपा भक्त पर बनी रहती है।
2. शुक्रवार के दिन एक लाल कपड़ा लेकर उसमें सवा किलो चावल रखें। चावल पूरा साबुत होना चाहिए। कोई भी दाना टूटा नहीं होना चाहिए। इस पोटली को हाथ में ले ओम श्रीं श्रीये नम: का पांच माल जाप करें।
इस पोटली को तिजोरी में रख दें। मान्यता है कि ऐसा करने से धन प्राप्ति का योग बन जाता है।
3. शुक्रवार को पांच लाल रंग के फूल लें और उन्हें हाथ में रखकर देवी लक्ष्मी का ध्यान करें। उनसे ये प्रार्थना करें कि वे हमेशा आपके घर विराजे। इसके बाद इन फूलों को अलमारी या फिर तिजोरी में संभाल कर रख दें।
4. इस दिन भगवान लक्ष्मी नारायण का पाठ करने से भी देवी लक्ष्मी प्रसन्न हो जाती हैं। विधि-विधान से यह पाठ किया जाना चाहिए। खीर का प्रसाद चढ़ा सकते हैं।
5. शुक्रवार के दिन लाल रंग के वस्त्रों को धारण करें। इससे भी माता प्रसन्न होती हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

कांग्रेस ने जारी की 67 उम्मीदवारों की सूची, दखिये किन्हें मिला मौका

कोलकाताः कांग्रेस ने आज उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी। हालांकि कांग्रेस के उम्मीदवारों की सूची अधूरी है क्योंकि अपने उम्मीदवारों की घोषणा तो पार्टी आगे पढ़ें »

ऊपर