शरीर में दिख रहा ये एक लक्षण हो सकता है असामयिक मौत का संकेत

कोलकाताः आमतौर पर एक इंसान की वृद्धावस्था आनुवांशिक और लाइफस्टाइल पर निर्भर करती है। उम्र के साथ इंसान की थकावट भी बढ़ने लगती है। एक नई स्टडी के मुताबिक, थकावट किसी इंसान की असामयिक यानी समय से पहले मौत का संकेत दे सकती है।

जर्नल ऑफ ग्रोन्टोलॉजी
मेडिकल साइंसेज में प्रकाशित एक स्टडी के मुताबिक, तनाव के कारण होने वाली मानसिक और शारीरिक थकावट इंसान के जल्दी मरने का संकेत दे सकती है। इस अध्ययन के लिए 60 साल या इससे ज्यादा उम्र के 2,906 सैम्पल्स को देखा गया था। स्टडी में हिस्सा लेने वाले वॉलंटियर्स से शोधकर्ताओं ने कुछ एक्टिविटीज के आधार पर एक से पांच तक के स्केल पर थकावट का स्तर पूछा था। इसमें 30 मिनट की वॉक, लाइट हाउसवर्क और हैवी गार्डनिंग जैसी एक्टविटीज शामिल थी।मृत्युदर को प्रभावित करने वाले सभी कारकों को समझने के बाद शोधकर्ताओं ने पाया कि एक्टविटीज में हिस्सा लेने वाले जिन वॉलंटियर्स ने ज्यादा थकावट महसूस की, उनमें असामयिक मौत का खतरा ज्यादा था। इन जोखिमों डिप्रेशन, पहले से मौजूद या कोई लाइलाज बीमारी, उम्र और लिंग जैसे कारक शामिल थे।

पिट्स ग्रेजुएट स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के एपिडेमायोलॉजी डिपार्टमेंट में एसोसिएट प्रोफेसर और स्टडी की प्रमुख लेखक नैन्सी डब्लू ग्लिन ने कहा, ‘ये एक ऐसा वक्त है जब लोग ज्यादा फिजिकली फिट रहने के लिए न्यू ईयर पर नए-नए संकल्प ले रहे हैं। मुझे उम्मीद है कि हमारे आंकड़े लोगों को एक्सरसाइज के महत्व को समझने में मदद करेंगे।’

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

​बिल नहीं भरा तो अस्पताल ने शव देने से किया मना

हुगली : चंदननगर के एक नर्सिंग होम में इलाजरत मरीज की मौत के बाद बिल के भुगतान को लेकर मामला इतना गरमाया कि अस्पताल प्रबंधन आगे पढ़ें »

गुजरात के नतीजों को लेकर प्रदेश भाजपा में जश्न

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : गुजरात चुनाव के नतीजों को लेकर प्रदेश भाजपा में जश्न का माहौल है। गुरुवार को सुबह से ही मुरलीधर सेन लेन स्थित आगे पढ़ें »

ऊपर