नींद ना आने के पीछे हो सकती है ये कारण

कोलकाता : हेल्थ एक्सपर्ट रोजाना पर्याप्त नींद लेने की सलाह देते हैं। क्योंकि, यह प्रमाणित हो चुका है कि गहरी और पर्याप्त नींद लेने से ना सिर्फ मसल्स रिपेयर होती हैं, बल्कि आपका इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है। मगर विभिन्न कारण आपकी नींद को प्रभावित कर सकते हैं और ऐसा ही एक कारण है कमर और कूल्हों की मांसपेशियों में अकड़न। शायद आपको इस बारे में जानकारी ना हो, लेकिन कमर या कूल्हे की मसल्स में अकड़न के कारण नींद बार-बार टूटती है और आप गहरी नींद प्राप्त नहीं कर पाते हैं। लेकिन यहां बताए जा रहे 3 योगासनों की मदद से आप कमर और कूल्हों की मांसपेशियों को रिलैक्स कर सकते हैं और गहरी व आरामदायक नींद प्राप्त कर सकते हैं। इन योगासनों की सबसे बड़ी खासियत यह है कि आप इन्हें सोने से पहले बिस्तर पर ही कर सकते हैं।

गहरी नींद प्राप्त करने के लिए योगासन
कमर व कूल्हों की अकड़न दूर करके गहरी नींद प्राप्त करने के लिए इन योगासनों को खाना खाने के कम से कम 1 घंटा बाद ही करें। इसके साथ ही ये योगासन करते हुए सांसों को आराम से गहराई से लें। इससे आपका नर्वस सिस्टम भी रिलैक्स होगा और जल्दी नींद आएगी।

अश्व संचालनासन

इस योगासन के अंदर आपको थोड़ा-सा बदलाव करना है, जिससे इसका असर सीधा कूल्हों पर पड़ेगा।

1.    सबसे पहले बिस्तर पर पेट के बल लेट जाएं।

2.    अब अपने शारीरिक वजन को घुटनों और हथेलियों पर टिका लें।

3.    इसके बाद धीरे से अपने दाएं पैर को आगे की तरफ लाते हुए छाती के नीचे रखें।

4.    आपका दायां घुटना दायीं एड़ी के ऊपर आना चाहिए।

5.    इसके साथ ही दोनों हथेली और दायां पंजा एक रेखा में आने चाहिए।

6.    अब अपने कूल्हे की मांसपेशियों में खिंचाव महसूस करते हुए 5 बार गहरी सांस लें और छोड़ें।

7.    इसके बाद बाएं पैर से भी यह प्रक्रिया दोहराएं। 

पवनमुक्तासन योग
यह योगासन आपकी कमर से सारी अकड़ाहट खत्म कर देता है।

1.    बिस्तर पर कमर के बल लेट जाएं।

2.    अब दोनों घुटनों को मोड़ते हुए छाती के पास ले जाएं।

3.    अपने दोनों हाथों से पैरों को आगे की तरफ से पकड़ लें और कंधों को रिलैक्स कर लें।

4.    अब इस मुद्रा में गहरी व आरामदायक सांस लें और कमर में खिंचाव महसूस करें।

बालासन –   

1.    बिस्तर पर घुटनों के बल बैठ जाएं।

2.    अब दोनों घुटनों को कूल्हों से ज्यादा चौड़ा कर लें।

3.    इसके बाद सिर को आगे की तरफ बिस्तर पर टिकाने की कोशिश करें।

4.    अपने दोनों हाथों को सिर के आगे की तरफ पूरा फैला लें।

5.    इसी मुद्रा में गहरी व आरामदायक सांस लेकर स्ट्रेच महसूस करें।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

20 तक महानगर सहित दक्षिण बंगाल में भारी बारिश की संभावना

कल हवा की गति 40-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती है सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः महानगर सहित दक्षिण बंगाल के कई जिलों में अलीपुर मौसम आगे पढ़ें »

ऊपर