पैसों को चुंबक की तरह खींचने का काम करती हैं ये चीजें, आज ही ले आएं घर

कोलकाताः घर में वास्तु दोष हो तो बनते हुए काम बिगड़ने लगते हैं। किस्मत का साथ नहीं मिलता और तरक्की और धन लाभ के सभी अवसर हाथ से जाने लगते हैं। ऐसे में जरूरी है कि घर में वास्तु शास्त्र के नियमों का पालन किया जाए।वास्तु में कुछ चीजों को काफी शुभ माना गया है। इनको लाकर घर में नियम के अनुसार रखने से शुभ फल की प्राप्ति होती है और मां लक्ष्मी के आशीर्वाद से धन की बरसात होने लगती है।

कछूए को भगवान विष्णु से जोड़कर देखा जाता है। ऐसे में घर में धातु का कछूआ रखें। घर में चांदी, पीतल या कांसे का कछुआ रखने से आर्थिक समृद्धि के द्वार खुलते हैं और बरकत होने लगती है। घर में धातु के कछुए को हमेशा उत्तर दिशा में ही रखना चाहिए।

वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में क्रिस्टल पिरामिड रखने से आर्थिक संपन्नता आती है। इस पिरामिड को घर में ऐसी जगह पर रखना चाहिए, जहां पर लोग अधिक समय बिताते हों। क्रिस्टल पिरामिड को धन खींचने का चुंबक कहा जाता है। इससे आमदनी में बढ़ोतरी होती है।

गोमती चक्र को घर में रखने से निगेटिव एनर्जी को दूर करने में मदद मिलती है। इसे हिंदू धार्मिक ग्रंथों में काफी शुभ बताया गया है। पीले कपड़े में 11 गोमती च्रक को लपटेकर तिजोरी या धन रखने वाली जगह पर रखने से मां लक्ष्मी की विशेष कृपा मिलती है। ये च्रक बुरी नजर को दूर करते हैं और घर में सुख-समृद्धि और संपन्नता लाते हैं।

घर के बने मंदिर में कमलगट्टे की माला रखने से आर्थिक तंगी दूर होती है। यह माला धन प्राप्ति के सभी रास्ते खोलती है और घर में पॉजिटिव एनर्जी का संचार करती है। इस माला से रोजाना 108 बार अपने ईष्टदेव का नाम जपना चाहिए।

श्रीफल को लघु नारियल भी कहा जाता है। यह सामान्य नारियल की तुलना में छोटा होता है। वास्तु के अनुसार, घर में श्रीफल को रखने से धन की कमी नहीं रहती है। इससे आमदनी के नये द्वार खुलते हैं और आर्थिक स्थिति मजबूत होती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राज्यपाल को लेकर भाजपा ने दी गृह मंत्रालय को रिपोर्ट

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : गत नवम्बर महीने में पश्चिम बंगाल के स्थायी राज्यपाल बने डॉ. सी. वी. आनंदा बोस के बारे में भा​जपा नेताओं ने सोचा आगे पढ़ें »

सागरदिघी उपचुनाव के लिए हुआ कांग्रेस और वाम का समझौता

सागरदिघी उपचुनाव के लिए हुआ कांग्रेस और वाम का समझौता सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : 2021 के विधानसभा चुनाव के बाद उपचुनावों में भी वाम-कांग्रेस का समझौता आगे पढ़ें »

ऊपर