लाल चंदन के ये उपाय बना सकते हैं मालामाल, एकबार आजमाकर देखें

कोलकाता : लाल चंदन को बहुत शुभ माना जाता है। माथे पर तिलक लगाने वाला लाल चंदन आपकी सोई हुई किस्मत को जगा सकता है। पूजा-पाठ के साथ-साथ लाल चंदन का प्रयोग आयुर्वेद के कार्यों में भी किया जाता है। कोरोना महामारी के कारण जिंदगी में काफी उथल-पुथल हो गई है। लॉकडाउन के चलते व्यवसाय स्थल हो या कारोबार हर जगह रुकावट आ गई है, जिसकी वजह से आर्थिक स्थिति खराब हो गई है और मानसिक तनाव से गुजरना पड़ रहा है। लाल चंदन के टोटके आपके जीवन में बड़ा बदलाव कर सकते हैं अर्थात आपकी किस्मत बदल सकते हैं। हालांकि इनका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है लेकिन लोग इनका प्रयोग करते हैं और सफल होते हैं। आइए जानते हैं लाल चंदन के उन टोटकों के बारे में जिनसे आप घर और कारोबार में सुख-शांति के अलावा समृद्धि वापस पा सकते हैं….
घर में आने लगेगी सुख-समृद्धि
लाल चंदन की माला काली माता के किसी सिद्ध मंत्र का जप करें, ऐसा करने से आपके कार्यों में आने वाली बाधाएं दूर होने लगेंगी। वहीं शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी का लाल चंदन से तिलक लगाने पर देवी मां प्रसन्न होती हैं और घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।
समस्याएं खत्म होने लगेंगी
दिन कोई न कोई समस्या बनी रहती है तो यह उपाय आपकी काफी मदद करेगा। इसके लिए आप गुरु पुष्य नक्षत्र के एक दिन पहले चंदन के पेड़ की जड़ पर पीले चावल और जल चढ़ाकर धूप-दीप दिखाएं और प्रार्थना करें। फिर दूसरे दिन गुरु पुष्य नक्षत्र में पेड़ की थोड़ी लकड़ी लाकर एक लाल कपड़े में बांधकर मेन गेट पर टांग दें। ऐसा करने से धीरे-धीरे आपकी समस्याएं खत्म होने लगेंगी और परेशानियां खुशियों में बदलने लगेंगी।
आय के बनने लगेंगे नए स्रोत
शनिवार के दिन उड़द की दाल के दो बड़े बना लें। इसके बाद इन पर थोड़ा दही और लाल चंदन का टीका लगाकर पीपल के पेड़ के नीचे चुपचाप रख देना चाहिए। ध्यान रखें ऐसा करते समय कोई आपको न देखें। तंत्र शास्त्र के अनुसार, ऐसा लगातार आप चार शनिवार करते रहने चाहिए। इससे रुपए-पैसों की बचत होगी और आय के नए स्रोत बनने लगते l

शेयर करें

मुख्य समाचार

बेड पर सेक्स के दौरान कुछ इस तरह…

कोलकाता : परफेक्ट सेक्स जैसी कोई चीज नहीं होती है। सेक्स के दौरान हम सभी गलतियां करते हैं! कुछ गलतियां पूरी तरह से टाली नहीं जा सकती आगे पढ़ें »

अलीपुर चिड़ियाखाना के भीतर बनेगा मिनी अस्पताल : वनमंत्री

कोलकाता : सोमवार को अलीपुर चिड़ियाखाना परिदर्शन के लिए राज्य के वन मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक वहां पहुंचे। उन्होंने चिड़ियाखाना के भीतर ही एक जमीन को आगे पढ़ें »

ऊपर