तुलसी ही नहीं इन पौधों का मुरझाना भी दरिद्रता की निशानी

कोलकाताः हमारी धार्मिक मान्‍यताओं में पेड़-पौधों को बहुत ही खास और महत्‍वपूर्ण माना गया है। यहां तक कि पूजापाठ और धार्मिक कार्यों में भी नवग्रह की लकड़ी की आहुति देकर ही यज्ञ संपन्‍न होता है कि जो कि हमें अलग-अलग प्रकार के पेड़ से प्राप्‍त होती है। हिंदू धर्म में सर्वाधिक महत्‍व होता है तुलसी का। हर घर के आंगन की शान माना जाता है तुलसी का पौधा। इस पौधे का सूख जाना या फिर मुरझा जाना बहुत ही अशुभ माना जाता है। मान्‍यता है कि जिस घर में तुलसी का पौधा सूखने लगता है वहां दरिद्रता पांव पसारने लगती है। यह तो बात थी तुलसी की, लेकिन तुलसी के अलावा भी कुछ पौधे ऐसे होते हैं जिनका सूखना अशुभ संकेत देता है। आइए जानते हैं कौन से हैं ये पौधे…

तुलसी

हमारी धार्मिक मान्‍यताओं के अनुसार तुलसी को देवी का दर्जा दिया गया है और इन्‍हें विष्‍णुप्रिया भी कहा जाता है, क्‍योंकि इनका विवाह शालिग्राम से हुआ है जो कि भगवान विष्‍णु का ही एक रूप हैं, तो ऐसा माना जाता है कि भगवान विष्‍णु की हर प्रकार की पूजा में तुलसी का प्रयोग होता है और तुलसी की सेवा करने से भगवान विष्‍णु भी प्रसन्‍न रहते हैं। मगर तुलसी का मुरझाना धन के नाश की ओर इंगित करता है। माना जाता है कि ऐसा होने पर मां लक्ष्‍मी नाराज हो जाती हैं और उस घर से प्रस्‍थान कर लेती हैं।

शमी का पेड़

शमी का पेड़ शनि का प्रतिनिधित्‍व करता है और ऐसा माना जाता है कि शमी के पेड़ मुरझाना शनि के प्रकोप का संकेत देता है। वहीं दूसरी ओर शमी का पेड़ भगवान शंकर को भी बेहद प्रिय माना जाता है, इसलिए इस पेड़ का मुरझाना या सूखना बिल्‍कुल भी अच्‍छा नहीं है। अगर आपके घर में शमी का पेड़ यदि कभी सूखने भी लगे तो इसे हटाकर तुरंत ही दूसरा लगा देना चाहिए। शमी के पेड़ के नीचे हर शनिवार को सरसों के तेल का दीपक जलाने से शन‍ि की अशुभ दशा में लाभ होता है।

मनीप्‍लांट का सूखना

फेंग शुई और वास्‍तु में मनी प्‍लांट की बेल को बहुत ही शुभ माना जाता है और इसे धन, वैभव और समृद्धि से जोड़कर देखा जाता है। अगर किसी के घर में मनी प्‍लांट खूब फल-फूल रहा है तो इसका अर्थ है उस घर पर ईश्‍वर की विशेष कृपा है और उस घर के लोग सुखी जीवन व्‍यतीत कर रहे हैं। वहीं मनी प्‍लांट का मुरझाना उस घर में दरिद्रता की निशानी माना जाता है। ऐसे घर में धन की तंगी बढ़ने लगती है और कामधंधे में नुकसान होने लगता है।

आम का पेड़

आम के पेड़ को घर के बाहर लगाया जाता है और इसे भी शास्‍त्रों में दैवीय वृक्ष माना जाता है। आम के पेड़ पर संकटमोचन हनुमानजी का वास माना जाता है और इस पेड़ का सूखना आपके घर पर आने वाली विपत्ति की ओर संकेत करता है। आम के पेड़ की लकड़ी का प्रयोग पूजापाठ के कार्यों में किया जाता है और इसे समृद्धि प्रदान करने वाला वृक्ष माना जाता है। किसी साल आम के पेड़ पर बौर का न आना आपके घर में बढ़ने वाले संकट के बारे में बताता है। ऐसा अगर आपके साथ होता है तो आपको सावधान हो जाना चाहिए।

अशोक का पेड़

वास्‍तु में अशोक के पेड़ को भी बहुत महत्‍वपूर्ण और पॉजिटिव एनर्जी देने वाले पेड़ पौधों में से एक माना जाता है। सामान्य रूप से इसे घर के बाहर मुख्य द्वार पर लगाते हैं या फिर घर के आंगन में भी लगाते हैं। इसे मंगलकारी वृक्ष माना गया है। किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले मुख्‍य द्वार पर अशोक के पत्‍तों का बंदनवार लगाने की परंपरा है। इस पेड़ का मुरझाना घर की शांति भंग होने की ओर संकेत करता है। यदि आपके घर में भी अशोक का पेड़ मुरझाने लगे तो इसे बदलकर दूसरा पेड़ लगा देना चाहिए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अर्द्धसैनिक बल की अतिरिक्त 71 कंपनियां बंगाल में तैनात

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में चौथे चरण के चुनाव के बाद अतिरिक्त 71 अर्द्धसैनिक बल की कंपनियों को राज्य में तैनात किया गया है। चुनाव आगे पढ़ें »

मां दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए नवरात्रि शुरू होने से पहले कर लें ये काम

कोलकाताः चैत्र नवरात्रि 13 अप्रैल से शुरू होने वाली है। इस दौरान आदि शक्ति के नौ स्वरूपों की पूजा की जाती है। इन 9 दिनों आगे पढ़ें »

ऊपर