ये हैं वो पांच फूड जो हाई ब्लड प्रेशर को करेंगे कंट्रोल

कोलकाता : अगर आप हाई ब्लड प्रेशर की परेशानी से जूझ रहे हैं तो ये खबर आपके काम आ सकती है। हेल्थ एक्सपर्ट्स कहते हैं कि यह एक तेजी से पनपने वाली बीमारी है, जिससे भारत में करीब पांच करोड़ 70 लाख लोग प्रभावित हैं। डब्ल्यूएचओ के अनुसार, हाई ब्लड प्रेशर से दिल का दौरा, स्ट्रोक, रेटिना को नुकसान और यहां तक ये मौत का कारण भी बनता है।

हाई ब्लड प्रेशर की स्थिति क्या है
डॉक्टर के अनुसार, जब धमनियों में खून का दबाव बढ़ता है तो हार्ट को सामान्य क्रम से अधिक काम करना पड़ता है, इसी अत्यधिक प्रेशर को हाई ब्लड प्रेशर कहा जाता है। आसान भाषा में समझें तो सामान्य ब्लड प्रेशर का लेवल 120/80 होता है, जब रक्तचाप का स्तर इससे अधिक होता है तो इस स्थिति को हाइपरटेंशन कहते हैं।

ब्लड प्रेशर बढ़ने के लक्षण
सिर चकराना, घबराहट, पसीना आना और नींद न आना हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण हो सकते हैं लेकिन ये लक्षण इतने कॉमन हैं कि इसके कई दूसरे कारण भी हो सकते हैं। एक शोध के अनुसार आंखों में ब्लड स्पॉट, जिसे सब्सकंजक्टिवल हैमरेज कहा जाता है, हाई ब्लड प्रेशर का वॉर्निंग साइन हो सकता है।

क्यों बढ़ता है ब्लड प्रेशर
डॉक्टर कहते हैं कि ब्‍लड प्रेशर को 85 से ऊपर जाते ही चेतावनी का संकेत माना जाता है। रक्तचाप बढ़ने के पीछे बदलते लाइफस्टाइल, स्ट्रेस, थकान और खराब डाइट को प्रमुख कारण माना जाता है। अगर आप नमक का ज्यादा सेवन करते हैं तो भी ब्लड प्रेशर बढ जाने का खतरा ज्यादा हो जाता है। जो लोग पहले से बीपी के मरीज हैं।

कुछ रिपोर्ट में साफ हुआ है कि शारीरिक रूप से असक्रिय होना, धूम्रपान या शराब का अधिक सेवन भी बीपी बढ़ने का कारण माना जाता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो इस बीमारी का 99% इलाज सिर्फ दवा से नहीं बल्कि डाइट से भी किया जा सकता है।

ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने वाले फूड

जामुन का सेवन
जामुन में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट पाए जाते हैं। जामुन में मौजूद एंथोसायनिन एंटीऑक्सिडेंट ब्लड में नाइट्रिक ऑक्साइड के लेवल को बढ़ाते हैं। जामुन खाने से ब्लड प्रेशर कम होता है। 

खट्टे फल
खट्टे फल और केला- हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को खाने में खट्टे फल जरूर शामिल करने चाहिए। खट्टे फलों से इम्यूनिटी भी मजबूत होती है। खट्टे फलों में विटामिन, खनिज और कई तरह के पोषक तत्व होते हैं। जिससे आपका दिल स्वस्थ रहता है और हाई बल्ड प्रेशर भी कंट्रोल रहता है। आप खाने में अंगूर, संतरा, नींबू के अलावा केला भी खा सकते हैं।

कद्दू के बीज
कद्दू के बीज में बहुत सारे पोषक तत्व होते हैं। इन्हें खाने से ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल रहता है। इसमें पोटैशियम, मैग्नीशियम और आर्जिनिन पाया जाता है, जिससे ब्लड प्रेशर कम होता है। आप खाने में कद्दू के बीज या कद्दू का तेल इस्तेमाल कर सकते हैं।

फैटी मछली
मछली में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है, जिससे हमारा दिल स्वस्थ रहता है। मछली में पाया जाने वाला वसा रक्त वाहिकाओं को संकुचित करने वाले यौगिकों और सूजन को कम करता है। इससे ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में भी मदद मिलती है। इसलिए आपको अपनी डाइट में फैटी फिश शामिल करनी चाहिए।

बीन्स और दाल
दालें फाइबर, मैग्नीशियम और पोटेशियम का भंडार हैं। कई शोध अध्ययनों ने रक्तचाप के स्तर को कम करने में बीन्स और दाल के सेवन के सकारात्मक प्रभाव को दिखाया है। इसलिए आप अपनी डाइट में दालों को शामिल जरूर करें।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

गर्मी के तीखे तेवर : आसमान से बरस रहे ‘आग के गोले’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में इन दिनों गर्मी का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। सूरज निकलते ही धरती पर आग के गोले बरसने लगते है। आगे पढ़ें »

WB कोयला तस्करी मामलाः ED ने 8 जून को अभिषेक बनर्जी की पत्नी रूजिरा को किया तलब

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे सांसद अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुचिरा बनर्जी और दो बच्चे को सोमवार को कोलकाता एयरपोर्ट पर रोक आगे पढ़ें »

ऊपर