घर में रखीं ये 5 पुरानी चीजें बनती हैं दुर्भाग्य का कारण, आज ही निकाल फेंकिए बाहर

कोलकाताः कुछ लोग अपने घर में पुरानी चीजों को सहेजकर रखना पसंद करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि घर में रखी कुछ पुरानी चीजें या सामान हमारे दुर्भाग्य का कारण बन सकते हैं। वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में रखी कुछ पुरानी चीजें नकारात्मक ऊर्जा लेकर आती हैं। नतीजन घर की खुशहाली और आर्थिक संपन्नता प्रभावित होने लगती है। इंसान पाई-पाई को मोहताज रहने लगता है। ज्योतिष शास्त्र के जानकारों का कहना है कि ऐसी अशुभ चीजों को जितना जल्दी हो सके घर से बाहर कर देना चाहिए।

  • बंद घड़ी

वास्तु शास्त्र के मुताबिक, घर में बंद घड़ियां कभी नहीं रखनी चाहिए। ऐसा कहते हैं कि बंद घड़ियां घर में रखने से इंसान का वक्त ठहर जाता है। उसके जीवन में सफलता और उपलब्धि जैसे शब्द खत्म होने लगते हैं। इसलिए घड़ी के कांटे ठहरते ही उन्हें घर से बाहर कर देना ही उचित है। उन्हें दीवार पर टांगकर या दराज में सजाकर बिल्कुल न रखें।

  • खराब ताले

वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में खराब या जंग लगे ताले रखना भी बहुत अशुभ होता है। घर में खराब ताले हों तो इंसान की किस्मत ही बंद हो जाती है। उसकी तरक्की में रुकावट आने लगती है। आर्थिक संकट घेरने लगता है। इसलिए घर में खराब या जंग लगे ताले कभी न रखें।

  • पुराने अखबार

अक्सर आपने देखा होगा कि कुछ लोग अपने घर में अखबार और पुरानी मैग्जीन सजाकर रखते हैं। इस तरह की चीजें घर में रखना बहुत अशुभ माना जाता है। अखबार पर जमी धूल-मिट्टी आर्थिक संकट और पारिवारिक कलह लेकर आती है। इसलिए इनके इकट्ठा होने से पहले ही इन्हें बाहर कर देना चाहिए।

  • पुराने-फटे कपड़े

हमारे कपड़ों का संबंध भाग्य से होता है। वास्तु के अनुसार, फटे-पुराने कपड़े इंसान के करियर में बाधा पैदा करते हैं, इसलिए अगर कोई कपड़ा बहुत पुराना हो जाए या फट जाए तो उसे बाहर कर देना ही उचित है।

  • फटे पुराने जूते

घर में भूलकर भी फटे-पुराने जूते-चप्पल नहीं रखने चाहिए। ऐसा करने वालों को शनि से संबंधित परेशानियों का सामना करना पड़ता है। फटे पुराने जूते-चप्पल जीवन में संघर्ष को बढ़ाते हैं। काम-धंधे में बरकत खत्म होने लगती है। सिर पर कर्जों का बोझ बढ़ने लगता है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

पंचायत चुनाव में क्यूआर कोड वाले बैलट बॉक्स का किया जायेगा इस्तेमाल

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव जहां केंद्रीय वाहिनी की निगरानी में होने की बात है, वहीं इस चुनाव में आगे पढ़ें »

डायमण्ड हार्बर में सुकांत के सामने भिड़े भाजपाई, पार्टी ने कहा, राजनीतिक विवाद नहीं

डायमण्ड हार्बर में सुकांत के सामने भिड़े भाजपाई, पार्टी ने कहा, राजनीतिक विवाद नहीं सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शनिवार को डायमण्ड हार्बर में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुकांत आगे पढ़ें »

ऊपर