घर के मंदिर में जरूर होनी चाहिए ये 4 चीजें, हमेशा मिलता है मां लक्ष्मी का आशीर्वाद

कोलकाताः घर पर बने पूजा स्थल का विशेष महत्व होता है। घर पर बने पूजा घर से ही सबसे ज्यादा सकारात्मक ऊर्जा मिलती है। वास्तु शास्त्र में पूजा घर की सही दिशा का विशेष महत्व होता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार सही दिशा में पूजा घर होने पर व्यक्ति को हमेशा सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त होती है। वही अगर घर में बने पूजा स्थल में किसी तरह का कोई वास्तु दोष है तो व्यक्ति का मन उदास और परेशान रहता है। इसके अलावा घर पर बने मंदिर में कुछ विशेष चीजों का होना भी बहुत जरूरी होता है तभी मां लक्ष्मी समेत सभी देवी-देवताओं की कृपा हमेशा बनी रहती है। आज हम आपको बताएंगे कि पूजा घर में कौन सी चीजें रखनी चाहिए और पूजा घर की सही दिशा कौन सी होती है।

वास्तु में पूजा घर की दिशा

वास्तु के अनुसार घर पर पूजा स्थल हमेशा ईशान कोण की तरफ ही बना हुआ होना चाहिए। ईशान कोण का मतलब उत्तर-पूर्व की दिशा। यह दिशी देवी-देवताओं की दिशा मानी जाती है। इस दिशा में पूजा घर होने पर सबसे ज्यादा सकारात्मक ऊर्जा और शुभ फल की प्राप्ति होती है। मान्यता है कि मंदिर ईशान कोण में होने पर घर पर हमेशा सुख, शांति, संपन्नता और समृद्धि का वास रहता है। वहीं इस बात का ध्यान रखना चाहिए कभी भी भूलकर दक्षिण दिशा में पूजा घर स्थापित नहीं करना चाहिए। दक्षिण दिशा में पूजा घर होने पर धन की हानि और मानसिक तनाव बना रहता है।
मोर पंख के अचूक उपाय
मंदिर में जरूर रखें ये चीजेंमंदिर में पूजा और ध्यान लगाने पर सबसे ज्यादा सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त होती है। ऐसे में पूजा स्थल के पास कुछ खास चीजों का होना बहुत ही जरूरी होता है। इन चीजों के रहने पर हमेशा व्यक्ति को देवी लक्ष्मी की कृपा मिलती रहती है।मोर पंखवास्तु शास्त्र में मोर पंख को नकारात्मक ऊर्जा को दूर रखने में मदद मिलती है। वहीं मोरपंख भगवान श्रीकृष्ण को अत्यंत ही प्रिय होता है। पूजा स्थल पर मोर पंख रखने से घर पर हमेशा सकारात्मक ऊर्जा और भगवान की कृपा मिलती है। मान्यता है जिन घर में मोरपंख होता है वहां पर मुश्किल से ही नकारात्मकर ऊर्जा का प्रवेश हो पाता है। इस कारण से हमेशा पूजा स्थल पर मोर पंख रखना चाहिए।
शंख बजाने के लाभ
शंखभगवान विष्णु और माता लक्ष्मी को शंख बहुत ही प्रिय होता है। ऐसे में पूजा स्थल पर शंख होना चाहिए। नियमित तौर पर भगवान की पूजा के दौरान शंख की पूजा और इसे बजाना चाहिए। शंख के बजाने से घर पर सकारात्मक ऊर्जा आती है और घर में देवी लक्ष्मी का वास होता है।
गंगाजल
गंगाजलहिंदू धर्म में अग्नि और गंगाजल का विशेष महत्व होता है। जीवन के हर एक संस्कार में गंगाजल का प्रयोग किया जाता है। गंगाजल कभी भी खराब नहीं होता है। इसलिए पूजा स्थल पर गंगाजल जरूर होना चाहिए। प्रतिदिन पूजा के दौरान गंगाजल का प्रयोग अवश्य ही करना चाहिए। पूजाघर में गंगाजल होने पर मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं।
शालिग्राम
शालिग्राम माता लक्ष्मी की कृपा पाने का सबसे सरल उपाय पूजा घर में रखें हुए शालिग्राम की नियमित पूजा करना से है। शालिग्राम भगवान विष्णु के ही रूप हैं ऐसे में पूजा स्थल पर शालिग्रााम होने से माता लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

प्री-मैच्योर है प्रियंका का बच्ची? अभी अस्पताल में रहेगी, जानें वजह?

मुंबईः बॉलीवुड की मशहूर अदाकारा प्रियंका चोपड़ा ने जबसे मां बनने का ऐलान किया है फैंस में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है। इन खुशियों आगे पढ़ें »

ऊपर