शादी के बाद लड़कियों में आते हैं ये 4 बड़े बदलाव

नई दिल्ली : महिलाएं हो या पुरुष शादी के बाद उनकी जिंदगी बदल जाती है। खासकर महिलाओं के बारे में तो कहा जाता है कि ससुराल जाते ही अधिकतर महिलाएं पूरी तरह बदल जाती हैं। बाली उम्र से लेकर बालिग होने फिर और बड़े होने पर महिलाओं का व्यक्तित्व जो रूप ,रंग और आकार लेता है, वो उनकी पहचान बन जाता है। बदलाव का ये सिलसिला कुछ मामलों में कभी नहीं रुकता। ऐसे में इस आर्टिकिल में आपको बताते हैं कि आखिर ऐसा क्या हो जाता है, जो शादी के बाद महिलाएं बदल जाती हैं। आप भी इसके बारे में जानना चाहते हैं तो आइए बताते हैं शादी के बाद महिलाओं में आने वाले बदलावों और उसके पीछे की वजह के बारे में।
शारीरिक बदलाव
आपने शायद ये चीज अपने ही घर, रिश्तेदारी या फिर आस पड़ोस में देखी होगी कि शादी के बाद ज्यादातर महिलाओं की अपीयरेंस में भी चेंज आ जाते हैं। इसके पीछे की बड़ी वजह उनका खुद पर ध्यान न दे पाना है। हाउस वाइफ होने पर तो घर की पूरी जिम्मेदारी उसी पर होती है। वहीं कामकाजी महिलाओं को वर्क और होम, दोनों मोर्चों की जिम्मेदारी संभालने की वजह से वह खुद पर ध्यान नहीं दे पातीं। इससे उनका वजन बढ़ जाता है या घट सकता है। वहीं इसी वजह से उनके ब्यूटी केयर का टाइम भी कम हो जाता है इससे उनके चेहरे मोहरे में आया बदलाव फौरन महसूस किया जा सकता है।
ड्रेसिंग सेंस चेंज
ज्यादातर लड़कियों का शादी के बाद पहनावा बदल जाता है। अपने मायके में जो लड़की पहले शॉर्ट्स और जींस और स्कर्ट या सलवार सूट में घूमती थी, वो हो सकता है शादीशुदा हो जाने के बाद रोज-रोज साड़ी या सलवार सूट में नजर आए। ऐसा इसलिए भी है क्योंकि आज भी ज्यादातर परिवारों में बहुओं के कपड़ों को लेकर वही पुरानी टिपिकल सोच रखी जाती है।
हालांकि इसकी वजह सामाजिक दबाव को भी माना जा सकता है। क्योंकि सास-ससुर को अगर नई बहू के कपड़ों से दिक्कत न भी हो तब भी रिश्तेदार और पड़ोसी ‘अरे आपकी बहू कैसे कपड़े पहनती है’ जैसे ताने देने में पीछे नहीं रहते। ऐसे तानों, जुमलों और प्रेशर के चलते ज्यादातर नई नवेली बहुएं, ग्लैम टच लिए कपड़ों को बाय-बाय बोल देती हैं।
खुद के लिए वक्त न निकाल पाना
ऐसे बदलावों को लेकर होने वाले सर्वे में महिलाएं अब तो खुलकर अपनी राय रखने लगी हैं। उनका कहना है कि वो शादी से पहले जमकर घूमती फिरती थीं, लेकिन अब उनकी प्रॉयोरिटी बदल गई है। वहीं कुछ पुरुषों को यह शिकायत रहती है कि उनकी पत्नी उन्हें टाइम नहीं दे रही है। अगर आप भी उन शादीशुदा पुरुषों में से एक हैं, जो ऐसी शिकायत करते हैं, तो ये जान लीजिए कि आपकी पत्नी में आया ये बदलाव इस वजह से भी हो सकता है।
शादी से पहले उनके पास काफी समय होता था, लेकिन शादी के बाद उनके पास घर की जिम्मेदारी है, जिसे पूरा करना उनकी पहली प्राथमिकता बन जाती है। खासतौर से अगर बच्चा हो जाए, तब तो कहीं घूमने या छुट्टियों पर जाने का ख्याल भी उनके मन में नहीं आता।
बचपना का खो जाना
बड़े होने पर भी कोई भी शख्स अपने पैरंट्स के लिए हमेशा बच्चा ही रहता है। यही वजह है कि लड़कियां जब अपने माता-पिता के घर रहती हैं, तो उनके व्यवहार में कहीं न कहीं बचपना दिख जाता है, क्योंकि उन्हें वहां लाड़ प्यार मिलने के साथ मनमर्जी करने की फ्रीडम होती है। लेकिन शादी के बाद उनके स्वभाव में गंभीरता आ जाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि वह इस बात को अच्छे से समझती हैं कि नए रिश्तों में एंट्री के साथ ही उनके कंधो पर नई जिम्मेदारियों का बोझ आ चुका है।
वहीं सौ बातों की एक बात यह भी है कि बहुत सी महिलाएं और पुरुष रिश्तों के खातिर भी खुद में कई बदलाव लाते रहते हैं। खासतौर से शादी के बाद ताकि उनकी मैरिड लाइफ पटरी पर बनी रहे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

स्वास्थ्य साथी के बावजूद अस्पताल ने वसूले रुपये, लगाया गया जुर्माना

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : स्वास्थ्य साथी कार्ड दिखाकर अस्पताल में भर्ती होने के बावजूद मरीज के परिजनों से नकद रुपये लिये जाने का आरोप न्यूटाउन के आगे पढ़ें »

प्रेमिका की हत्या कर शव को दफनाया

खड़गपुर : पश्चिम मिदनापुर जिले के खड़गपुर लोकल थाना इलाके के एक गांव में रहने वाली एक महिला को मार कर दफना दिए जाने के आगे पढ़ें »

ऊपर