इंटरनेट से किशोरों का स्वास्थ्य प्रभावित

स्कूली होमवर्क पूरा  करने के लिये किशारों में इंटरनेट का उपयोग बढ़ गया है जिसके चलते किशोरों  को अब दो तीन घंटे या उससे अधिक समय तक इंटरनेट का उपयोग करने के लिये  कंप्यूटर पर बैठना पड़ता है जिसके चलते किशोरों का मानसिक स्वास्थ्य  प्रभावित होने लगा है। उससे जुड़ी समस्याएं पैदा होने लगी हैं। असमय अवसाद  का खतरा पैदा हो गया है। अध्ययन में पाया गया कि शहरों के वे बच्चे जो  इंग्लिश मीडियम में पढ़ाई करते हैं वे इंटरनेट का उपयोग अधिकाधिक करते हैं।  यही बच्चे आगे चलकर मानसिक स्वास्थ्य एवं उसकी परेशानी से जूझ रहे हैं।  अवसाद, चिड़चिड़ेपन एवं बेचैनी से घिर रहे हैं।

आस्था से स्वास्थ्य लाभ भी होता है

अपने  देश की बहुसंख्यक जनता आस्थावान है। जब व्यक्ति बीमार की स्थिति में होता  है तब यह धर्म आस्था या किसी बात पर आस्था गहरी हो जाती है इसीलिए पूजा पाठ  जैसे धार्मिक कार्य, भभूत और पानी जैसी चीजों से बीमार व्यक्ति भला चंगा  हो जाता है। डिस्टिल्ड वाटर के इंजेक्शन, पाउडर की गोली से भी वह स्वस्थ हो  जाता है। वास्तव में व्यक्ति जब आस्थावान होता है, तब उसकी इच्छा शक्ति  जाग जाती है और प्रबल हो जाती है। यही संबल उसे नवजीवन देने में बड़ा काम  आता है। इसीलिए यह कहा जाता है जहां दवा असर नहीं दिखाती, वहां दुआ  (प्रार्थना) से बीमार व्यक्ति ठीक हो जाता है।

खराब दांत फेफड़े भी खराब कर देते हैं

दांतों  की नियमित सफाई नहीं करने पर ये गंदे, बदरंग और खराब हो जाते हैं, इनकी  गंदगी एवं परत से दांत मसूड़े दोनों भी खराब होने लगते हैं। खराब दांतों से  शरीर के कई अंग भी प्रभावित होते हैं। दांतों की गंदगी व बीमारी फेफड़े तक  पहुंचकर उसे भी संक्रमित कर सकती है। उसकी कार्य क्षमता भी प्रभावित हो  जाती है। कुछ भी खाने और पेय पीने के बाद कुल्ला कर मुंह साफ करना चाहिए  जबकि दिन भर दो समय दांतों की नियमित सफाई करनी चाहिए। यह सफाई अच्छी तरह  करनी चाहिए। साप दांत हमारे जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

6 साल की बच्ची बनी हवस का शिकार

हाजीपुर: बिहार के हाजीपुर में 6 साल की बच्ची से दरिंदगी का मामला सामने आया है। माता-पिता जब घर में नहीं थे तो पड़ोस के आगे पढ़ें »

यूपी की बिटिया को मिला पीएम रिसर्च फेलोशिप पुरस्कार

सिद्धार्थनगर: उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर जिले के लिए एक गर्व करने वाली खबर मिली है। बांसी तहसील अंतर्गत ग्राम नागचौरी के मूल निवासी और वर्तमान आगे पढ़ें »

ऊपर