अयोध्या भूमि पर ऐतिहासिक फैैसले के बाद शहर के आस-पास का हाल

ayodhya market

अयोध्या : अयोध्या भूमि विवाद पर उच्चतम न्यायालय द्वारा दिए गए ऐतिहासिक फैसले के बाद से उत्तर प्रदेश के बहराइच, सुल्तानपुर और अयोध्या सहित अधिकतर शहरों की सड़कों पर सन्नाटा छाया रहा। पेट्रोल पंप और दवा दुकानें खुली हैं। अब कुछ जगहों पर लोग सड़कों पर निकलना शुरू हो गए हैं।

पटाखे छोड़ने से लोगों को रोका गया

प्रशासन की ओर से मुस्लिम समुदाय के लोगों को उच्चतम न्यायालय के फैसले पर शांति व्यवस्था बनाए रखने का अनुरोध किया है। अयोध्या में पुलिस बल ने हनुमान गढ़ी के निकट दुकानें बंद करवा दी। इसके साथ ही लोगों को एकजुट होने से रोका जा रहा है। हालांकि हनुमानगढ़ी से लगभग 100 मीटर आगे सन्नाटा छाया हुआ है, दुकानें खुली हुई हैं। कुछ लोगों ने पटाखे छोड़ने शुरू किए लेकिन पुलिस ने मौके पर पहुंच कर उन्हें रोक दिया। डीएम और एसएसपी लगातार गश्त लगा रहे हैं। इस फैसले के बाद कानपुर में भी डीएम विजय विश्वास पंज और एसएसपी अनंत देव मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों में निकले। आरएएफ ने कानपुर के सर्वाधिक संवेदनशील इलाकों में शामिल परेड, चमनगंज, बेकनगंज में फ्लैग मार्च किया।

पैदल गश्त लगा रही है पुलिस

बरेली में बड़ा बाजार बंद, नावल्टी चौराहा, बिहारीपुर सिविल लाइंस इलाके की जयादातर दुकानें शनिवार को बंद है। सड़कों पर कम लोग दिखाई दे रहे हैं। हालांकि दुकाने बंद रहने का कारण जुलूस-ए-मोहम्मदी पर निकलने वाले अंजुमन को बताया जा रहा है और अधिकतर दुकानदार अंजुमन का हिस्‍सा हैं। डीएम नीतीश कुमार, एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय, एडीएम, एसडीएम सीओ इंस्पेक्टर और पैरामिलिट्री फोर्स के साथ शहर में पैदल गश्त लगा रहे हैं।

फैसले के बाद मुस्लिमों की ओर से कहा गया कि उन्हें 5 एकड़ जमीन प्राप्त हुई है। लेकिन इस बात की जानकारी उन्हें बाद में मिलेगी कि सरकार द्वारा यह 5 एकड़ जमीन उन्हें कहां पर मिलती है। अयोध्या भूमि पर राम मंदिर के निर्माण का फैसला जनता द्वारा मन से स्वीकारा गया है। फिलहाल स्थिति सामान्य है।

शाहजहांपुर में भी स्थिति सामान्य

अगर शाहजहांपुर की बात करें तो वहां भी फैसले से पहले तक बाजार में सन्नाटा छाया रहा। इलाके में कुछ ही दुकानें खुली थीं, लेकिन फैसला आने के बाद शहरभर में दुकानें खुलने लगीं। स्थिति सामान्य होने के साथ ही रोज की तरह सड़कों पर लोगों की चहल-पहल शुरू हो गई। खरीदारी को लोग घरों से निकलने लगे हैं। प्रशासन ने अयोध्या मामले में आने वाले फैसले के मद्देनजर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था भी कर रखी है।

एएमयू में भी फैसले का सम्मान

अलिगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में ज्यादातर लोगों ने फैसले का सम्मान किया है। एएमयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष फैजुल हसन ने कहा कि हमारे लिए देश मे अमन जरूरी है। जो फैसला कोर्ट का है, उसका सम्मान किया जाएगा। यूनिवर्सिटी के अन्य छात्रों ने भी फैसले पर हर्ष जताया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

गुरु नानक के नाम पर भवन बनायेगी राज्य सरकार

कोलकाता : सोमवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घोषणा की कि सिख गुरुओं के पहले गुरु और सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक की 550वीं आगे पढ़ें »

तेज रफ्तार से आ रही स्कूल बस लैंप पोस्ट से टकरायी, 20 घायल

कोलकाता : ड्राइवर द्वारा नियंत्रण खोने से तेज रफ्तार स्कूल बस लैंप पोस्ट से जा टकरायी। घटना चितपुर थानांतर्गत पी.के मुखर्जी रोड व काशीपुर रोड आगे पढ़ें »

ऊपर