तेजस्वी का कांग्रेस को नसीहत, रखना चाहिए था धैर्य

 पटनाः बिहार की दो विधानसभा सीटों पर 30 अक्टूबर को उप चुनाव होने वाला है। इसको लेकर पार्टी के प्रचारक मैदान में उतर चुके है। आरजेडी और कांग्रेस के बीच मचे बवाल को लेकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि कांग्रेस के लोगों को धैर्य रखना चाहिए था। उन्होंने कहा, “हमने कभी किसी को बाहर नहीं किया, दिल से अपनाया है। लालू यादव के आशीर्वाद से ही दूसरी बार मुख्यमंत्री जी जीवित हुए 2015 में, हम थोड़े ना किसी को भगाए थे।”
बिहार में उप चुनाव को लेकर तेजस्वी यादव ने कहा कि जब जनता ने आशीर्वाद दे दिया तो चुनौती कहां रही और ये आरजेडी की लड़ाई नहीं जनता और सरकार के बीच की लड़ाई है। 19 लाख लोगों के रोजगार का वादा किया गया था, कितनों को रोजगार दिया? महंगाई डायन लगती थी पर इनको महबूबा नजर आ रही है। किसान हो या मजदूर हो इन्हें कोई काम नहीं मिल रहा है। सिंचाई की अलग समस्या है।
कमर तोड़ महंगाई के साथ कमर तोड़ सड़क
तेजस्वी यादव ने कहा कि अभी कुशेश्वर स्थान बाढ़ ग्रसित इलाका है जहां सड़क तक नहीं है। यहां कमर तोड़ महंगाई के साथ कमर तोड़ सड़क है। चीफ जस्टिस ने गया लौटने पर कहा था बड़ा बुरा हाल है सड़कों का, यानी लोगों को बुनियादी चीज भी नहीं मिली। उन्होंने बोलने के अलावा और भय फैलाने के अलावा क्या किया है। जनता ने तो नकार दिया था 70 से 40 पर आ गए। हम पूछते हैं उप चुनाव क्यों हो रहा है? स्वास्थ्य व्यवस्था बदइंतजामी के कारण ही, स्वास्थ्य विभाग को बर्बाद कर दिया। अपने ही विधायक को अस्पताल में भर्ती नहीं करा पाए। नीतीश कुमार ने इतना विकास किया तो शशिभूषण हजारी दिल्ली क्यों एडमिट थे?  किस मुंह से यहां आकर वोट मांग रहे हैं? सीएजी की रिपोर्ट को देखें तो दो लाख करोड़ का हिसाब अबतक नहीं दिया गया।
तेजस्वी ने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में लालू यादव का स्वास्थ्य ठीक नहीं था इसलिए वह नहीं आए। आनन-फानन में रांची से दिल्ली ले जाकर उनका इलाज कराया गया। वो मास लीडर हैं, तो उन्हें मास से दूर कैसे करेंगे? अब वो खिंचे हुए आ गए है। डॉक्टरों ने कई बार मना किया लेकिन लालू यादव का प्यार है जनता के प्रति, वो जल्द से जल्द जनता के बीच जाना चाहते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पश्चिम बंगाल जल्द बूस्टर डोज का परीक्षण करेगा

6 अस्पतालों ने जताई इच्छा सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पश्चिम बंगाल सरकार महानगर में कोविड-19 रोधी टीके की बूस्टर खुराक का जल्द परीक्षण करने की योजना बना आगे पढ़ें »

ऊपर