विधानसभा का घेराव करने पहुंचे शिक्षकों पर पुलिस ने किया लाठीजार्च

teachers enclosing legislative assembly lathi charged by the police

पटना : वेतनमान समेत सात सूत्रीय मांगों को लेकर गुरुवार को राजधानी पटना में विधानसभा का घेराव करने पहुंचे नियोजित शिक्षकों पर पुलिस ने जमकर लाठियां बरसाईं। इससे पहले विधानसभा की ओर आगे बढ़ने से रोके जाने को लेकर शिक्षकों और पुलिस के बीच जबरदस्त झड़प हुई। प्रदर्शन कर रहे हजारों की संख्या में शिक्षक आगे बढ़ने के लिए लगातार बैरिकेड तोड़ने का प्रयास कर रहे थे। भीड़ को नियंत्रित और तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज के साथ कई बार आंसू गैस के गोले भी छोड़े। शिक्षकों के तरफ से भी पत्‍थरबाजी की गई। इसके बाद पुलिस ने शिक्षकों के विरोध-प्रदर्शन, विधानसभा घेराव को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। पटना के धरना जोन कहे जाने वाले इलाके में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई है साथ ही विधानसभा के आसपास की सुरक्षा को भी पहले से अधिक किया गया है।

समान वेतन की मांग : जानकारी के अनुसार गुरुवार सुबह 11 बजे से पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत विधानसभा घेराव के इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए सूबे के कोने-कोने से पटना पहुंचे शिक्षक समान काम के लिए समान वेतन की मांग को लेकर लगातार आंदोलनरत हैं। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद उनको निराशा हाथ लगी थी लेकिन इसके बावजूद सभी शिक्षक वेतन संबंधी अन्य मांगों को लेकर बिहार सरकार पर लगातार दबाव बना रहे हैं।

प्रदर्शन में शामिल हुए 18 शिक्षक संघ : बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के महासचिव मंडल के सदस्य अमित विक्रम ने बताया कि पूरे राज्य के सभी सरकारी विद्यालय में नियोजित शिक्षक धरने में शामिल हुए हैं। आंदोलन को प्राथमिक शिक्षक संघ, प्राथमिक शिक्षक संघ गोप गुट, अराजपत्रित शिक्षक संघ, बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ, बिहार राज्य पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ, टीईटी शिक्षक संघ, टीईटी-एसटीईटी शिक्षक संघ, टीईटी प्रारंभिक शिक्षक संघ है। विक्रम ने बताया कि सभी 18 शिक्षक संघों ने बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले समर्थन दिया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पीएम मोदी का यह ट्वीट बना साल का गोल्डन ट्वीट,मिले सबसे ज्यादा लाइक्स

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी साेशल मीडिया पर हमेशा छाए रहते हैं। टि्वटर पर मोदी को लाखों लोग फॉलो करते हैं और वो ट्विटर आगे पढ़ें »

नागालैंड के छात्र संगठन ने नागरिक संशोधन‌ बिल के विरोध में किया प्रदर्शन

कोहिमा : नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ नागालैंड में राजभवन के बाहर नगा स्टूडेंट्स फेडरेशन (एनएसएफ) के सदस्यों ने मंगलवार को प्रदर्शन किया। पूर्व एनईएसओ आगे पढ़ें »

ऊपर