चाय-काफी का सेवन अच्छा भी, बुरा भी

 

सुबह नींद खुलते ही बहुत सारे लोगों को चाय की तलब महसूस होती है। आफिस में काम करते करते जब भी थकान महसूस हो तो चाय काफी की याद आ जाती है। उस समय कड़क चाय या कॉफी की चुस्कियां नियामत की तरह शरीर में चुस्ती फुर्ती का संचार कर देती हैं। दुनिया में चाय-कॉफी पीने वालों की कमी नहीं है, कुछ लोग तो च्यादा चाय कॉफी पीने के आदी हो जाते हैं जिन्हें लंबे अरसे बाद इसके परिणाम भुगतने पड़ते हैं। दिन भर में दो चाय या दो कॅाफी तक का सेवन तो ठीक है उससे अधिक पीने पर इसमें समाहित कैफीन शरीर को नुकसान पहुंचाता है। थोड़ा कैफीन तो शरीर को चुस्त रखने में मदद करता है।

चाय-कॉफी का सेवन क्यों करें:-

कैफीन मस्तिष्क को सक्रिय बनाता है, जिससे आप शारीरिक और मानसिक रूप से थोड़े समय के लिए तरोताजा महसूस करते हैं।

हल्के सिरदर्द में भी चाय कॉफी का सेवन लाभप्रद होता है।

चाय-काॅफी का सेवन थोड़े समय के लिए थकान दूर कर निष्क्रिय शरीर को सक्रिय करता है।

चाय में मौजूद टैनिन वायरस को मारता है। फिर भी दो कप से अधिक चाय न पिएं।

अस्थमा के रोगियों को भी थोड़े समय के लिए चाय कॉफी के सेवन से राहत मिलती है।

कम मात्रा में काॅफी का सेवन अल्जाइमर, लिवर, पार्किंसन, टाइप 2 डायबिटिज की समस्याओं के रिस्क को कम करता है।

चाय कॉफी के सीमित सेवन से मुंह की दुर्गंध दूर होती है।

चाय सीमित मात्रा से लेने पर शरीर में मौजूद कोलेस्ट्राल कम करता है।

ब्लैक, ग्रीन चाय महिलाओं के ओवेरियन कैंसर के खतरे को कम करती है।

क्यों ना पीएं अधिक चाय कॉफी:-

अधिक चाय-कॉफी का सेवन सिरदर्द और चिड़चिड़ाहट को बढ़ाता है।

अधिक कैफीन का सेवन शरीर को कमजोर बनाता है और ब्लड प्रेशर बढ़ाता है।

अधिक कैफीन के सेवन से कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है।

चाय कॉफी अधिक पीने से नींद पर प्रभाव पड़ता है।

कैफीन की ज्यादा मात्रा एसिडिटी को बढ़ाती हैं।

कैफीन की अधिकता हमारे नर्वस सिस्टम को उत्तेजित करती है।

अधिक चाय कॉफी पीने से शारीरिक ऊर्जा का स्तर कम होता है क्योंकि यह ऊर्जा थोड़े समय तक प्रदान करता है बाद में आदी होने पर थकान को बढ़ाती है।

अधिक चाय कॉफी के सेेवन से हमारा पाचन तंत्र प्रभावित होता है जिससे कब्ज, बवासीर की समस्या बढ़ती है।

शोधकर्ताओं का मानना है एक से दो कप चाय कॉफी का सेवन स्वास्थ्य के लिए ठीक है क्योंकि इसमें मौजूद फ्लेवोनॉएड्स शरीर के लिए लाभप्रद हैं जिस प्रकार ताजे फल सब्जियों वाले होते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टी-20 में ऑस्ट्रेलिया को कड़ी चुनौती देगा भारत, ऑस्ट्रेलिया में 12 साल से सीरीज नहीं हारी टीम इंडिया

कैनबरा : एक दिवसीय श्रृंखला में विकल्पों की कमी के कारण मिली हार के बाद भारतीय क्रिकेट टीम शुक्रवार से शुरू हो रही तीन मैचों आगे पढ़ें »

रेसलिंग वर्ल्ड कप में उतरेंगे भारत के 24 पहलवान

नयी दिल्ली : कोरोना के बीच सर्बिया के बेलग्रेड में 12 से 18 दिसंबर के बीच इंडिविजुअल रेसलिंग वर्ल्ड कप खेला जाएगा। इसमें दीपक पुनिया, आगे पढ़ें »

ऊपर