शारीरिक संबंध बनाए बिना औरतों को यूं ले जाएं चरम तक

कोलकाताः आपको ये बात पता होनी चाहिए कि महिलाओं का शरीर पुरुषों के मुकाबले 10 गुना ज्यादा संवेदनशील होता है। महिलाओं के शरीर में ऐसे कई जगह हैं जहां से उन्हें आसानी से उत्तेजित कर चरमोत्कर्ष तक ले जाया जा सकता है। अपनी पार्टनर की उन जगहों को छूए जहां वे एकदम उत्तेजित हो जाती हैं। लेकिन ध्यान रहे आप कुछ भी कठोरता के साथ ना करें बल्कि बेहद सॉफ्ट तरीके से सब करें। पार्टनर के शरीर के अंगों की केयर करते हुए उनके शरीर पर अपनी उंगलियों और लिप्स का कमाल दिखाएं। इस कमाल की शुरूआत उनके होंठो से करें और धीर-धीरे उनकी ब्रेस्ट तक आ जाएं।

  • यदि आप उनके निप्पल्स को टच करेंगे तो वे बेहद उत्तेजित हो जाएंगी। अधिकत्तर महिलाएं निप्पल्स के छूते ही बेहद उत्तेजित हो जाती हैं। इसके बाद धीरे-धीरे आगे बढ़ते हुए पार्टनर के जननांगों तक जाएं।
  • अब आप अपनी ओरल स्किल दिखाएं और मुखमैथुन करते हुए क्लूटोरिस पर जीभ को फहराएं और अपनी लेडी लव को उत्तेजित करते हुए गीला कर दें।
  • उंगलियों का जादू जी स्पॉट किसी भी महिला का वो चरम है जहां तक पहुंचते ही वे पूरी तरह से संतुष्ट हो जाती हैं। तो आप अपनी अंगुलियों के जादू से अपनी लेडी लव के जीस्पॉट को छुए और उन्हें लाइफ का ऐसा अनुभव करवाएं जैसा उन्होंने पहले कभी ना ‌महसूस किया हो।
  • धीरे-धीरे अंगुलियों को लेडी लव की योनी के अंदर लेकर जाएं। अंगुलियों का मोमेंट योनी में कभी हल्का तो कभी तेज करें। इससे आपकी लेडी लव उत्साहित हुए बिना नहीं रह पाएगी।
  • योनी में अंगुली डालने के दौरान दो से तीन इंच के बाद एक मुलायम ग्रंथि के होने का अहसास होगा उसे आप छुए और पार्टनर की कामुकता बढ़ाएं। इस सॉफ्ट ग्लैंड यानी मुलायम ग्रंथि को हल्के से रगड़े। इससे आपकी पार्टनर को चरमोत्कर्ष तक जाने में वक्त नहीं लगेगा।
  • तो आज आप इन टिप्स को अपनाकर अपनी लेडी लव को क्रेजी बनाएं और उन्हें वैसा अनुभव दें जो उन्हें पहले कभी नहीं मिला हो।
शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आज इस विधि से करें मां लक्ष्मी की पूजा, दरिद्रता होगी दूर

कोलकाताः शुक्रवार का दिन हिंदू धर्म में धन की देवी मां लक्ष्मी की पूजा के लिए जाना जाता है। हर व्यक्ति की इच्छा होती है आगे पढ़ें »

ऊपर