सर्दियों में त्वचा का रखें विशेष ध्यान

सर्दियों में त्वचा की सही देखभाल करना अपने आप में एक चिंता का विषय है। अधिकतर लोग पूरा ज्ञान न होने के कारण त्वचा की देखभाल सही तरीके से नहीं कर पाते वे नहीं जानते कि क्या सही है, क्या गलत है। सर्दियां प्रारंभ होते ही त्वचा में रूखापन, बालों में डैंड्रफ, एडि़यों और होंठों का फटना आम समस्याएं हैं। ठंडी, खुश्क हवाएं हमारी त्वचा की नमी को चुरा लेती हैं इसलिए हमें इसकी देखभाल की जरूरत पड़ती है। नर्म और चमकदार त्वचा बनाए रखने के लिए क्या जरूरी है, इस बारे में जानें।
कम क्रीम का प्रयोग करने से त्वचा खुश्क होती है
सर्दियों में ठंड के कारण शरीर के अंदर संचार धीमी गति में होने के कारण शरीर का तापमान भी कम हो जाता है और शरीर सीवम का उत्पादन कम कर पाता है। सीवम हमारी तेल ग्रंथियों से निकलने वाला तैलीय तरल पदार्थ होता है जो हमारी त्वचा को नर्म और चमकदार बनाए रखने में हमारी मदद करता है। सर्दियों में प्रयुक्त मात्रा में सीवम न बनने से त्वचा का बाहरी भाग खुश्क हो जाता है इसलिए हम क्रीम लगाते हैं ताकि ऊपरी त्वचा में नमी बनी रहे। वैसे क्रीम का प्रभाव त्वचा पर अधिक समय तक नहीं रहता अधिक रूखी त्वचा हो तो दिन में दो से तीन बार क्रीम लगाकर बाहरी त्वचा की नमी बरकरार रखी जा सकती है।
ठंड प्रभावित करती है हमारी बाहरी त्वचा को
यह सच है कि सर्दियों का सबसे अधिक प्रभाव हमारी त्वचा की पहली परत पर पड़ता है। ठंड से बाहरी त्वचा सिकुड़ने लगती है। अगर ध्यान न रखा जाए तो त्वचा के सेल्स टूटने लगते हैं। धीरे-धीरे त्वचा पर लकीरें दिखाई देने लगती हैं जो बाद में झुर्रियां बन कर उभरती हैं। इसलिए सर्दियों में बाहरी त्वचा या पहली परत का विशेष ध्यान रखना चाहिए ताकि त्वचा सिकुड़े नहीं।
प्रयोग में लाएं एक्स्ट्रा माॅश्चराइजर
वैसे तो त्वचा की नमी को बरकरार रखने के लिए सीवम का मुख्य योगदान होता है पर सर्दियों में पर्याप्त
सीवम न बनने के कारण हमें त्वचा पर एक्स्ट्रा माश्चराइजर का प्रयोग करना चाहिए। माश्चराइजर युक्त कोल्ड क्रीम लगाएं। आलिव ऑयल का प्रयोग भी शरीर पर करें इससे भी त्वचा की खुश्की कम होगी। चेहरे पर बादाम का तेल भी लगा सकते हंै जिससे त्वचा नर्म बनी रहेगी।
न करें साबुन या फेसवॉश का अधिक प्रयोग
यह सच है अधिक साबुन, फेसवाश, बाॅडीवाश का प्रयोग करने से त्वचा और खुश्क होती है। जितनी बार आप इनका प्रयोग करेंगे, उतनी त्वचा खुश्क होगी। चेहरे और शरीर की सफाई हेतु लेप बनाएं। इसके लिए दो चम्मच दूध का पाउडर, दो चम्मच चोकर और
थोड़ा पानी मिलाकर लेप तैयार करें जिसे चेहरे, गर्दन बाजुओं और शरीर के अन्य अंगों पर साबुन की तरह लगाएं। शरीर पर आलिव ऑयल, सरसों के तेल, बादाम तेल से मालिश करें और हल्के गुनगुने पानी से स्नान करें। अधिक तेज गर्म पानी त्वचा की खुश्की बढ़ाता है। क्लीजिंग के लिए क्लीजिंग मिल्क या माइल्ड फोमिंग क्लींजर या अल्कोहल रहित टोनर का प्रयोग कर सकती हैं। पीलिंग, मास्क या अल्कोहल युक्त टोनर्स का प्रयोग न करें।
फटे होंठों पर लिपस्टिक का प्रयोग न करें
सर्दियों में होंठ फटना साधारण प्रक्रिया है। जिन दिनों होंठ फटे हों, लिपस्टिक का प्रयोग न करें। उसके स्थान पर पेट्रोलियम जैली या लिप बाम का प्रयोग करें। होंठों पर मलाई लगा कर हल्के से मल दें ताकि डेड स्किन निकल जाए। रात्रि में नाभि पर सरसों का तेल या थोड़ा सा घी लगाएं। होंठ नहीं फटेंगे।
धूप सेंकते समय सनब्लाॅक क्रीम लगाना न भूलें
वैसे धूप से नेचुरल विटामिन डी मिलता है पर इसकी अल्ट्रावायलेट किरणें त्वचा को भी नुकसान पहुंचाती हैं। सर्दियों में लोग सोचते हैं धूप का सेवन अधिक से अधिक करें। ध्यान दें धूप में बैठने से पहले सनब्लाक क्रीम लगाना न भूलें अन्यथा सर्दियों की धूप भी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकती है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल का चुनावी दंगल : 20 सभाएं करेंगे पीएम

शाह की होंगी 50 जनसभाएं कोलकाता : पश्चिम बंगाल में चुनावी दंगल की घोषणा के बाद अब भाजपा कमर कस कर तैयारी में जुट चुकी है। आगे पढ़ें »

बुधवार के 7 प्रभावकारी उपाय एवं टोटके करेंगे हर विघ्न दूर…

कोलकाताः बुधवार के दिन खास तौर पर श्रीगणेश की पूजा-अर्चना करने का विधान है, क्योंकि श्री गणेशजी को विघ्नहर्ता कहा जाता है। वे स्वयं रिद्धि-सिद्धि के दाता आगे पढ़ें »

ऊपर