ब्लैक, व्हाइट के बाद अब मरीजों में दिखने लगे यलो फंगस के लक्षण

उत्तर प्रदेश : कोरोना की दूसरी लहर के बीच देश में कई नई समस्याएं सामने आ रही हैं l अभी ब्लैक फंगस से ही सामना हो रहा था कि अब उत्तर प्रदेश के गाज़ियाबाद से अजीब मामला सामने आया है l यहां एक मरीज में ब्लैक फंगस के साथ-साथ व्हाइट फंगस और यलो फंगस भी मिला है l गाजियाबाद के जिस अस्पताल में ये मामला सामने आया है, वहां व्हाइट फंगस के ही 7 केस सामने आ चुके हैं l गाजियाबाद के एक निजी अस्पताल में ब्लैक, व्हाइट फंगस के कुल 26 केस दर्ज किए गए हैं l हिस्टोपैथोलॉजी रिपोर्ट के आधार पर मरीजों में सफेद फंगस और एक मरीज में यलो फंगस की पुष्टि हुई है l हालांकि, फिलहाल स्वास्थ्य विभाग के किसी अधिकारी के द्वारा भी इसकी पुष्टि नहीं की गई है l बहरहाल, जिस तरह से फंगस के स्पेशलिस्ट के द्वारा यह घोषणा की गई है तो निश्चित तौर पर यह माना जा सकता है कि अब तीन तरीके का फंगस यहां लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है l
– क्या कह रहे हैं डॉक्टर?
गाजियाबाद में फंगस के मरीजों का उपचार कर रहे वरिष्ठ चिकित्सक एवं अस्पताल के संचालक डॉक्टर बृजपाल से मिली जानकारी के अनुसार, गाजियाबाद में कोरोना और ब्लैक फंगस के बाद अब व्हाइट फंगस और यलो फंगस ने भी अब दस्तक दे दी है l
डॉक्टर का कहना है कि पहले ब्लैक फंगस के लक्षण मिले, अब व्हाइट फंगस के मरीजों के भी मिले हैं l इसकी शुरुआत में नाक से ही वायरस फेफड़ों में पहुंच जाता है, इसमें इस्तेमाल होने वाले इंजेक्शन फॉसकरिजॉन और एम्फोटरेसिन-बी भी अभी नहीं मिल रहे हैं l डॉक्टर के मुताबिक, अगर मरीज़ में ब्लैक-व्हाइट फंगस पाया जाता है तो इलाज में डबल हो जाता है l डॉक्टर ने जानकारी दी है कि यलो फंगस में सुस्ती, कम भूख लगना, वजन कम होना मुख्य लक्षण हैं l जैसे-जैसे यह आगे बढ़ता है आप पीले फंगस के अधिक गंभीर लक्षण, जैसे मवाद का रिसाव करना और संभवतः खुले घाव का धीमी गति से ठीक होना और सभी घावों की धीमी गति से भरना, कुपोषण और अंग विफलता जैसे लक्षण भी देख पाएंगे l डॉक्टर का दावा है कि यलो फंगस एक घातक बीमारी है क्योंकि यह आंतरिक रूप से शुरू होता है और इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि आप किसी भी लक्षण को नोटिस करते ही चिकित्सा उपचार करें l आपको बता दें कि कोरोना संकट के बीच फंगस के देश में 9 हज़ार के करीब केस आ गए हैं l देश के अलग-अलग राज्यों में इसे भी महामारी घोषित कर दिया गया है और इससे जुड़े इंजेक्शन की कमी बड़ी चुनौती बन रही है l

शेयर करें

मुख्य समाचार

सीएम के प्रयास से राज्य में कोविड-19 की दूसरी लहर को नियंत्रित किया गया : विमान बनर्जी

दक्षिण 24 परगना : सीएम के प्रयास से राज्य में कोविड-19 की दूसरी लहर को सफलतापूर्वक नियंत्रित किया गया। बारुईपुर पश्चिम के विधायक व विधानसभा आगे पढ़ें »

वैशाखी की सुरक्षा की मांग पर शोभन ने सीपी को भेजा पत्र

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : रत्ना चट्टोपाध्याय उनकी हत्या की साजिश रच रही है। इस बीच वैशाखी को बलि का बकरा बनाने की साजिश रची जा रही आगे पढ़ें »

ऊपर