जेएनयू कैंपस में स्वामी विवेकानंद की मूर्ति को उपद्रवियों ने किया अपमानित

Statue of Swami Vivekanand

नई दिल्ली : जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के छात्रों के भारी विरोध-प्रदर्शन के बाद आखिरकार मोदी सरकार को बढ़ी हुई फीस को कम करना ही पड़ा। एचआरडी मिनिस्ट्री ने बताया कि दरिद्र छात्रों के लिए सरकार ने आर्थिक सहायता के रूप में एक योजना का प्रस्ताव रखा है। अभी तक यह मामला शांत नहीं हुआ था कि जेएनयू कैंपस में उपद्रवियों ने स्वामी विवेकानंद की मूर्ति को अपमानित कर दिया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक कैंपस में जिस स्‍थान पर चबूतरे पर प्रतिमा मौजूद है वहां अभद्र ‌टिप्पणियां लिखी गई हैं। हालांकि अभी तक यह सपष्ट नहीं हाे पाया है कि इस हरकत के लिए कौन जिम्मेदार है। फिलहाल मामले की जांच जारी है।

गुस्से में लिखे अभद्र संदेश

जानकारी के अनुसार बुधवार को प्रशासनिक ब्लॉक में कुछ छात्र कुलपति से मिलने पहुंचे। ब्लाॅक के ठीक दाई तरफ स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा स्थित है। कुलपति को ब्लॉक में न पाकर छात्र गुस्सा गए। अन्य अधिकारियों को भी न पाकर उन्होंने दिवारों पर अभद्र संदेश लिख डाले। एक छात्र ने लिखा कि आप हमारे कुलपति नहीं है और कुछ ने तो अलविदा जैसे भी शब्दों का भी इस्तेमाल किया।

मालूम हो कि प्रशासनिक ब्लॉक के दाईं तरफ स्वामी विवेकानंद की मूर्ति लगी हुई है। इसके ठीक सामने जवाहर लाल नेहरू की भी प्रतिमा स्‍थापित है। घटना के बारे में तब पता चला जब कुछ छात्र विश्वविद्यालय के प्रशासनिक ब्लॉक में कुलपति से मिलने पहुंचे। होस्टल की बढ़ी हुई फीस का विरोध करने के लिए छात्र एक साथ इकट्ठा हुए थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

arif

केरल के राज्यपाल ने प्रदर्शनकारियों से हिंसा बंद करने की अपील की

तिरुवनंतपुरम : नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ लोगों के हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने प्रदर्शनकारियों से हिंसा बंद आगे पढ़ें »

jamia

जामिया की वाइस चांसलर ने की उच्च स्तरीय जांच की मांग

नई दिल्ली : जामिया मिलिया इस्लामिया में छात्रों के नागरिकता संशाेधन बिल पर विरोध देखने काे मिला और रविवार देर रात प्रदर्शनकारियों ने 4 बसों आगे पढ़ें »

senger

उन्नाव दुष्कर्म मामले में विधायक कुलदीप सेंगर दोषी करार, बुधवार को सुनाई जाएगी सजा

रोजाना खाइए एक चम्मच शहद, बीमारियां रहेंगी दूर

नागरिकता कानून के खिलाफ ममता की रैली, कहा- भाजपा पैसे देकर कराती है हिंसा

chauhan

असम में तैनात सेना की टुकड़ियां एक या दो दिन में बैरक में वापस आ जाएंगी: सेना कमांडर

पैन को आधार से इस तारीख तक करा लीजिए लिंक, नहीं तो होगी मुश्किलें

modi

नागरिकता कानून पर हिंसा दुर्भाग्यपूर्ण, अफवाहों से दूर रहें और शांति बनाए रखें : पीएम मोदी

bangladesh

भारत में अवैध ढंग से रह रहे अपने नागरिकों को वापस लाने के लिए तैयार है बांग्लादेश

rahul

स्मृति की शिकायत के बाद चुनाव आयोग ने मांगा राहुल के बयान पर जवाब

ऊपर