नाग पंचमी पर 30 साल बाद बन रहा ऐसा शुभ योग, जानें- पूजा का…

कोलकाताः श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नाग पंचमी का त्योहार मनाया जाता है। इस दिन भगवान शिव के आभूषण समझे जाने वाले नागों की विधिवत पूजा होती है। ज्योतिष के जानकारों की मानें तो इस साल नाग पंचमी का त्योहार ज्यादा खास होने वाला है। दरअसल नाग पंचमी पर 30 साल बाद एक दुर्लभ योग बनेगा। इस शुभ योग में नाग देवता की पूजा करने से आपके जीवन की हर एक परेशानी नष्ट हो सकती है। ज्योतिष के जानकारों का कहना है कि 30 साल में पहली बार नाग पंचमी बहुत ही शुभ शिव योग में मनाई जाएगी। इस शुभ योग में नागों की पूजा का फल कई गुना ज्यादा मिलता है। इस दौरान भगवान शिव और उनके नागों की पूजा करने से मनचाहे फल की प्राप्ति हो सकती है। नाग पंचमी पर पूजा से कालसृप दोष का निवारण भी किया जा सकता है।
नाग पंचमी तिथि
श्रावण मास की पंचमी तिथि मंगलवार, 02 अगस्त को सुबह 05 बजकर 13 मिनट से लेकर अगले दिन यानी 3 अगस्त को सुबह 5 बजकर 41 मिनट तक रहेगी। इस दिन नाग पंचमी के साथ मंगला गौरी व्रत भी पड़ रहा है। यह सावन का तीसरा मंगला गौरी व्रत होगा। यानी नाग पंचमी पर नागों की पूजा के अलावा भगवान शिव और माता पार्वती की भी पूजा की जाएगी।
नाग पंचमी का शुभ मुहूर्त
नाग पंचमी पर अबूझ मुहूर्त में भगवान शिव और नागों की पूजा करना शुभ माना जाता है। नाग पंचमी के दिन सुबह 05 बजकर 43 मिनट से लेकर सुबह 08 बजकर 25 मिनट तक नाग पंचमी की पूजा का शुभ मुहूर्त बन रहा है, यानी आपको पूजा के लिए पूरे 2 घंटे 42 मिनट का समय मिलेगा।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आज शिक्षा मंत्री के साथ एसएससी आंदोलनकारियों की बैठक

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : 2016 के एसएससी आंदोलनकारियों से तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद अभिषेक बनर्जी ने पिछले दिनों कैमक स्ट्रीट कार्यालय में मुलाकात आगे पढ़ें »

ऊपर