सोमवार को 2 लौंग चुपके से रख दें यहां, फिर देखें चमत्कार

कोलकाता : जीवन में जब बहुत परेशानी बढ़ जाए, जब आपको लगे कि जीवन में आकास्मिक रूप से संकट, बाधाएं, परेशानी और एक के बाद एक परेशानी आपको परेशान किए जा रही है। आपकी तकलीफें कम ही नहीं हो पा रही हैं। धन की ओर से आपको लगता है जैसे कि मां लक्ष्मी आपसे रूठ गई हैं। ऐसे में आप क्या करें कि सबकुछ अच्छा हो जाए।
शिवजी जोकि भोले भंडारी हैं जोकि एक लोटा जल और बिल्वपत्र से भी प्रसन्न हो जाते हैं, क्योंकि अगर आप उन्हें दिल से पुकार लेते हैं तो वे बहुत जल्दी ही आपके ऊपर अपनी कृपा कर देते हैं। इसलिए आपको आत्मा को परमात्मा से मिलाना होगा और फिर देखिए आप कैसे आपकी मन्नतें पूरी होती हैं।
कभी-कभी आपके ऑफिस की समस्या, कभी-कभी आपके व्यवसाय, कारोबार की समस्या, कभी आपके घर की समस्या, टेंशन दिन पर दिन बढ़ती चली जाती है और ऐसा होता है कि आपको इन चीजों से बाहर निकलने का रास्ता ही नहीं मालूम है तो आप अपनी आंखें बंद करके भगवान शिव कही शरण में आ जाइए। क्योंकि शिवजी ही एक ऐसे देव हैं बहुत जल्दी ही खुश हो जाते हैं और भक्त पर अपना वरदहस्त रख देते हैं। तथा उनकी सभी मुरादें पूरी कर देते हैं।
अगर जीवन में आपके कष्ट बढ़ गए हों तब किसी भी सोमवार के दिन आप दो लौंग लेकर शिवालय जाएं और साथ में एक लोटा जल भी लेकर जाएं तथा ऊँ नम: शिवाय का निरंतर जप करते हुए एक लोटा जल को शिवलिंग पर अर्पित करें और उसके बाद आप दो लौंग शिवलिंग पर चढ़ा दें। उसके बाद आप वहां एक घी का दीया जला दें। अथवा आप चाहें तो सरसों के तेल का भी दीया जला सकते हैं और जो भी दीया जलाएं आप उसमें भी एक लौंग डाल दें। लौंग वाला दीया मन्नत का दीया होता है और जब आप आपकी कोई मन्नत होती है, विश होती है तो उसे पूरी करने के लिए आप दीये में लौंग जरुर डालें और फिर वह दीया जला दें। इससे आपका हर कष्ट दूर हो जाएगा और यकीन मानिए जल्दी ही आपके जीवन से हर परेशानी दूर हो जाएगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘उत्तर बंगाल में भाजपा की अंत शुरूआत हुई’

कहा - राज्य में भाजपा का पतन निकट अलीपुरदुआर के भाजपा अध्यक्ष सहित 7 नेता तृणमूल में शामिल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : उत्तर बंगाल में भाजपा को झटका आगे पढ़ें »

सेक्स के 4 ऐसे पोजीशन जो रात को बना देती है, खुशनुमा

कोलकाताः सेक्स दुनिया का सबसे अलग एहसास है। हालांकि सेक्स को लेकर तरह-तरह के सवाल सभी के मन में रहते है। इसे लेकर लोगों की आगे पढ़ें »

ऊपर