चप्पल, पत्थर और अब थप्पड़… मुख्यमंत्री रहते हुए नीतीश कुमार पर पहले भी हुए ऐसे हमले

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पटना जिले के बख्तियारपुर में मूर्ति पर माल्यार्पण के दौरान युवक ने थप्पड़ जड़ दिया है। सीएम नीतीश कुमार एक हॉस्पिटल में प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर रहे थे। उसी वक्त एक युवक आया और तेजी में ऊपर चढ़कर सीएम को थप्पड़ जड़ दिया। तत्काल ही पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर लिया है। युवक को बख्तियारपुर थाना ले जाया गया है। नीतीश कुमार के साथ यह पहला मौका नहीं है जब उनपर हमला हुआ है। इससे पहले नीतीश कुमार पर कभी चप्पल तो कभी पत्थर फेंके जा चुके हैं।

Bihar CM #Nitishkumar is attacked by a person in #Bhakhtiyarpur..Police detained him and questioning . pic.twitter.com/QqFa8edgen

— Amar chouhan (@amar_4inc) March 27, 2022

2020: बिहार विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मधुबनी के हरलाखी विधानसभा क्षेत्र में जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान नीतीश को लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। नीतीश कुमार जब भाषण दे रहे थे तभी कुछ लोगों ने उनके ऊपर प्याज और कंकड़-पत्थर के फेंके थे। इतना ही नहीं, इस दौरान पत्थर फेंकने वाले नारेबाजी करते हुए कह रहे थे कि बिहार में शराब खुलेआम बिक रही है और तस्करी हो रही है, लेकिन आप कुछ नहीं कर पा रहे हैं। इस व्यक्ति को नीतीश कुमार के सिक्योरिटी गार्ड ने रोकने की भी कोशिश की लेकिन नीतीश कुमार ने कहा कि फेंकने दो, जितना फेंकना है फेंकने दो।
2018: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बक्सर जिले के नंदर इलाके में विकास यात्रा पर निकले थे। इसी दौरान कुछ लोगों ने सीएम के काफिले पर पत्थर फेंके थे। हमले में नीतीश को तो बचा लिया गया था, लेकिन उनकी सुरक्षा में लगे लोग घायल हो गए थे। इस हमले में सीएम के काफिले में शामिल कारों के शीशे तोड़ दिए गए थे।
2018: बिहार के पटना के बापू सभागार में जेडीयू के छात्र समागम कार्यक्रम को संबोधित करने के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर एक युवक ने चप्पल फेंक दिया था। चप्पल फेंकने के बाद युवक ने आरक्षण का विरोध करते हुए नारेबाजी भी की थी। इस घटना से बौखलाए जेडीयू नेताओं ने युवक की जमकर पिटाई कर दी थी, उसके बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया था।
2016: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पटना में जनता दरबार लगाए हुए थे। एक अणे मार्ग स्थित मुख्यमंत्री आवास पर नीतीश कुमार ‘जनता के दरबार में मुख्यमंत्री’ कार्यक्रम में लोगों की समस्याएं सुन रहे थे। इसी दौरान एक युवक अपनी फरियाद लेकर पहुंचा। मुख्यमंत्री अभी अन्य लोगों की फरियाद सुन ही रहे थे कि युवक मुख्यमंत्री की ओर कुछ फेंका था, जिसे पहले पुलिस ने कागज बताया था, लेकिन बाद में पता चला कि युवक ने चप्पल फेंका था। पुलिस के अनुसार, अरवल जिले का रहने वाला युवक जिसकी पहचान नीतीश के रूप में की गई है, वह सरकार के उस फैसले से नाराज है, जिसमें आग लगने की घटनाओं को देखते हुए सुबह 9 बजे से शाम छह बजे तक चूल्हा नहीं जलाने और हवन नहीं करने का लोगों को निर्देष दिया गया है।

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

सप्तमी पर महानगर में ट्रैफिक व्यवस्था हुई प्रभावित

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : महासप्तमी के अवसर पर रविवार को महानगर की सड़कों पर लोगों की भारी भीड़ उमड़ी। पूजा पंडाल घूमने के लिए लोगों की आगे पढ़ें »

पार्थ के खिलाफ दाखिल चार्जशीट का तकनीकी रोड़ा

अभी इंतजार है राज्य सरकार की अनुमति का सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : टीचर नियुक्ति घोटाले में सीबीआई की तरफ से पहली चार्जशीट अलीपुर के सीबीआई कोर्ट में आगे पढ़ें »

ऊपर