लव जिहाद : ’14 में से 4 लड़कों ने पहचान छिपाकर लड़कियों को फंसाया’

– कानपुर रेंज आईजी मोहित अग्रवाल के नेतृत्व में गठित एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट में किया यह दावा

कानपुर : उत्तर प्रदेश के कानपुर में लव जिहाद के मामलों में गठित एसआईटी ने आईजी रेंज को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। इस रिपोर्ट में कुछ चौकाने वाले खुलासे किए गए। एसआईटी ने 14 लव जिहाद मामलों को अपनी जांच में शामिल किया था जिनमें से 11 मामलों में पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है। जबकि 3 मामलों में बालिग लड़कियों ने लड़कों के पक्ष में बयान दिया, जिसके चलते इन 3 मामलों में फाइनल रिपोर्ट लगा दी गयी है।

विदेशी फंडिंग के सबूत नहीं
आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया कि एसआईटी ने लव जिहाद के इन मामलों में पाया कि 4 लड़के आपस में एक-दूसरे के संपर्क में थे। उन्होंने दूसरे धर्म की लड़कियों के साथ छल कर उनके साथ निकाह किया। इसके अलावा तीन मामलों में आरोपी लड़कों ने अपना हिन्दू नाम बताकर लड़कियों को अपने जाल में फंसाया। हालांकि, बतौर आईजी लव जिहाद के इन मामलों में एसआईटी को विदेशी फंडिंग के सबूत नहीं मिले।

बता दें कि संगठित साजिश के भी अब तक कोई प्रमाण सामने नहीं आए। दूसरे धर्म की लड़कियों से निकाह करने के लिए आरोपियों ने लड़कियों का नाम और धर्म परिवर्तित कराया। नाम और धर्म परिवर्तन की प्रक्रिया में कानून का पालन नहीं किया गया। पुलिस इन मामलों में आगे की कार्रवाई करेगी।

लव जिहाद के कई मामले आए थे सामने
गौरतलब है कि कानपुर के जूही कॉलोनी और नौबस्ता इलाके में लव जिहाद के कई मामले सामने आए थे। जिसके बाद कई लड़कियों के परिजनों ने साजिशन प्यार में फंसाने और धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाया। हिंदू संगठनों ने भी इसका कड़ा विरोध किया था जिसके बाद कानपुर रेंज आईजी मोहित अग्रवाल ने एसआईटी गठित कर मामले की जांच का आदेश दिया था।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

नंदीग्राम में ममता की सभा में लाखों की भीड़ उमड़ने की उम्मीद

सन्मार्ग संवाददाता खड़गपुर/नंदीग्राम : नये वर्ष के दूसरे सप्ताह से ही तृणमूल सुप्रीमों और राज्य की मुख्यमंत्री जिलों के दौरे पर निकल रहीं हैं और उसकी आगे पढ़ें »

सांसद पड़े नरम, पहुंचे हावड़ा में आयोजित तृणमूल की रैली में

सौगत ने सांसद प्रसून को किया फोन अरूप राय के नेतृत्व में निकाली गयी रैली में प्रसून व भाष्कर भट्टाचार्य राजीव, लक्ष्मीरतन व वैशाली नहीं हुए शामिल हावड़ा आगे पढ़ें »

ऊपर