यूपी में ‘कॉकटेल’ वैक्सीन लगने पर हंगामा

सिद्धार्थ नगर : जिले के बढ़नी प्राथमिक चिकित्सा केंद्र में वैक्सीनेशन को लेकर भारी लापरवाही सामने आई है। बढ़नी प्राथमिक चिकित्सा केंद्र में 20 ग्रामीणों को पहली डोज कोविडशील्ड की लगाने के बाद दूसरी डोज कोवैक्सीन की लगा दी गई। सीएमओ संदीप चौधरी ने इस पूरे मामले में जांच के आदेश दिए हैं और दोषियों के खिलाफ सख्त एक्शन लेने की बात कही है। बढ़नी प्राथमिक चिकित्सा केंद्र में औदही कला गांव के 20 लोगों को पहली डोज कोविडशील्ड की दी गई लेकिन 14 मई को दूसरी डोज कोवैक्सीन की दी गई। हालांकि जिन लोगों को वैक्सीन का ‘कॉकटेल’ दिया गया, वो सब ठीक है। मीडिया से बात करते हुए सिद्धार्थ नगर सीएमओ संदीप चौधरी ने कहा, “वैक्सीन के ‘कॉकटेल’ की किसी भी प्रकार की गाइडलाइन भारत सरकार की ओर से जारी नहीं की गई है। इसलिए ये मामला लापरवाही का है। किसी भी व्यक्ति को एक ही वैक्सीन के दोनों डोज दिए जाने चाहिए। बढ़नी मामले में जांच के आदेश दिए गए हैं और हमारे वरिष्ठ अधिकारियों ने गांव का दौरा किया। जांच में जिन लोगों के नाम सामने आए हैं, उनसे स्पष्टीकरण मांगा गया है जिसकी भी गलती होगी, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।” उन्होंने आगे कहा, “हमारी टीम ने गांव का दौरा किया था और उन लोगों से बात की, जिन्हें वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज अलग-अलग दी गई। सभी लोग ठीक हैं और फिलहाल उन्हें किसी भी तरह की कोई स्वास्थ्य संबंधी समस्या नहीं है। हालांकि पूरे मामले पर नजर बनाए हुए हैं।”
इसी बीच, औदही कला गांव के एक ग्रामीण रामसूरत ने कहा, “मुझे 1 अप्रैल को पहली डोज कोविडशील्ड की दी गई जबकि 14 मई को दूसरी डोज कोवैक्सीन की दी गई। किसी ने मुझसे यह नहीं पूछा कि मुझे पहली डोज कौनसी लगी थी। मुझे कोविडशील्ड के बजाय कोवैक्सीन दी गई। मुझे कोई दिक्कत नहीं है लेकिन डर जरूर है कि मेरे शरीर के भीतर कुछ हो ना जाए। अभी तक कोई भी हमसे पूछताछ करने नहीं आया है। मेरे गांव में 20 लोगों को गलत वैक्सीन दी गई।”

शेयर करें

मुख्य समाचार

आज से 18 साल से उपरवाले लोगों को केएमसी देगा नि:शुल्क वैक्सीन

कोलकाता : कई दिनों से राज्य सरकार का आरोप है कि केंद्र सरकार की ओर से वैक्सीन नहीं भेजे जा रहे हैं। इस बीच कोलकाता आगे पढ़ें »

आज अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

कोलकाताः आज सातवां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। बता दें कि हर साल 21 जून को योग दिवस मनाया जाता है। साल 2015 आगे पढ़ें »

ऊपर