शनिवार को शनि देव को खुश करने के लिए इन चीजों का दान करें

कोलकाता : आषाढ़ मास का आरंभ हो चुका है। पंचांग के अनुसार 26 जून 2021, शनिवार को आषाढ़ मास की कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि है। इस दिन नक्षत्र उत्तराषाढ़ा और इंद्र योग रहेगा। इंद्र योग को शुभ कार्यों के लिए अच्छा माना गया है। शनि देव को शांत करने के लिए आज योग बन रहा है।
शनि देव का महत्व
शनि देव को ज्योतिष शास्त्र में महत्वपूर्ण ग्रह माना गया है। नवग्रहों में शनि ग्रह को न्यायाधीश की उपाधि प्राप्त है। भगवान शंकर की शनि देव ने उपासना की थी। शनि देव की पूजा और भक्ति से प्रसन्न होकर भगवान शिव ने शनि देव को सभी ग्रहों का दंडाधिकारी बनाया था। शनि देव की दृष्टि से मनुष्य, देवता और पिशाच भी नहीं बच पाते हैं। यही कारण है कि शनि देव अपनी दृष्टि को सदैव नीचे रखते हैं।
इन 5 राशियों पर शनि हैं भारी
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार वर्तमान समय पर मिथुन, तुला, धनु, मकर और कुंभ राशि पर शनि भारी हैं। इनमें से मिथुन और तुला राशि पर शनि की ढैय्या तथा धनु, मकर और कुंभ राशि पर शनि की साढ़ेसाती चल रही है।
शनिवार की पूजा
आषाढ़ मास के प्रथम शनिवार को शनि देव की पूजा का विशेष संयोग बन रहा है. आज इंद्र योग बना हुआ है। पंचांग के अनुसार 26 जून 2021 शनिवार को इंद्र शाम 07 बजकर 19 मिनट तक बना हुआ है। सूर्य अस्त होने के बाद शनि मंदिर में शनि देव की पूजा करना इस समय अच्छा रहेगा।
शनि का दान
शनिवार के दिन शनि देव को इन चीजों का दान करना चाहिए। इन चीजों का दान करने से शनि देव शांत होते हैं-
सरसों के तेल का दान
काली उड़द का दान
काले तिल का दान
लोहे का दान
काले वस्त्र का दान
जूतों का दान
अनाज का दान
काले छाता का दान

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

दोनों हाथ में पिस्तौल लेकर फेसबुक पर तस्वीर किया पोस्ट, पहुंचा हवालात

वाट्स ऐप ग्रुप बनाकर हथियारों की खरीद फरोख्त करता था अभियुक्त सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : दोनों हाथ में पिस्तौल लेकर फेसबुक पर तस्वीर पोस्ट करना एक युवक आगे पढ़ें »

ऊपर