‘एक रात के लिये बीवी भेजो ट्रांसफर मिल जायेगा’… जेई से परेशान लाइनमैन ने कर ली आत्महत्या

लखीमपुर खीरीः उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में बिजली विभाग के जेई पर गंभीर आरोप लगाते हुए एक लाइनमैन ने खुद पर पेट्रोल डालकर आग लगा ली। इलाज के लिए उसे लखनऊ ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। मौत के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया है। लाइनमैन ने मरने से पहले जेई पर परेशान करने का आरोप लगाया है। आरोप यह भी है कि ट्रांसफर के बदले जेई ने उससे अपनी पत्नी को उसके पास लाने के लिए कहा था। मामले में जेई और टेक्नीशन लाइनमैन को निलंबित कर दिया गया है। लाइनमैन का वीडियो वायरल हो रहा है। हालांकि घटना के बाद जिलाधिकारी ने जेई को निलंबित कर मामले की जांच के लिए एक उच्चस्तरीय कमिटी गठित कर दी है। वहीं पलिया थाने में परिजन की तहरीर पर जेई और एक अन्य व्यक्ति पर मकदमा दर्ज कर लिया गया है।
क्या है मामला?
लखीमपुर खीरी के पलिया हाइडिल कॉलोनी में बिजली विभाग के लाइनमैन ने शनिवार की देर रात अपने ऊपर डीजल डालकर आग लगा ली। इससे वह बुरी तरह से झुलस गया। अस्पताल में हुई लाइनमैन की मौतलाइनमैन को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां हालत गंभीर होने पर उसे लखनऊ ले जाया गया। यहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। बमनगर सेमरी का निवासी गोकुल प्रसाद गोला के कुकरा अलीगंज में लाइनमैन के पद पर तैनात था। करीब 22 सालों से वह बिजली विभाग में नौकरी कर रहा था। पलिया की हाइडिल कॉलोनी में वह परिवार के साथ रहता था। शनिवार की देर रात उसने हाइडिल परिसर में ही अपने ऊपर डीजल डालकर आग लगा ली।
परिजन और पड़ोसियों की मदद से आग बुझाई गई और गोकुल प्रसाद को प्राइवेट अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। जिला अस्पताल में हालत गंभीर होने पर उसे लखनऊ रेफर कर दिया गया था और वहीं पर इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। घटना के बाद से परिजन में कोहराम मचा हुआ है। मरने से पहले लाइनमैन ने जेई पर गंभीर आरोप लगाए हैं। एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें पीड़ित ने बताया है कि ट्रांसफर के बदले जेई पैसे मांगता था। इतना ही नहीं, वह उससे अपनी पत्नी को लाने के लिए कहता था। मामले में देर रात पलिया थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है। साथ ही जिलाधिकारी के निर्देश पर जेई नागेंद्र कुमार और टेक्नीशन लाइनमैन जगतपाल को निलंबित कर दिया गया। साथ ही उच्च स्तरीय जांच कमिटी गठित की गई है। मौत से पहले लाइनमैन जगतपाल ने बयान भी दिया था।
शेयर करें

मुख्य समाचार

दो सालों बाद सजी ढाक की धुन, पंडालों में पहुंचे ढाकी

सन्मार्ग संवाददाता काेलकाता : ढाकी की धुन और धुनुची नृत्य से पूजा का उत्साह चरम पर होता है। देखा जाये तो दुर्गापू​जा में बिना ढाक के आगे पढ़ें »

नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा से मिलती है…

कोलकाताः शास्त्रों के अनुसार नवरात्रि की षष्ठी तिथि मां कात्यायनी की पूजा को समर्पित है। मां दुर्गा का यह छठा स्वरूप बहुत करुणामयी है। माना आगे पढ़ें »

ऊपर