सावन के शनिवार पर शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या से पीड़ित लोग जरूर करें ये उपाय

कोलकाताः इस समय सावन का पावन माह चल रहा है। सावन के माह का बहुत अधिक महत्व होता है। सावन का महीना महादेव को समर्पित होता है। सावन के महीने में पड़ने वाले शनिवार का भी विशेष महत्व होता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार शनिवार का दिन हनुमान जी और शनिदेव को समर्पित होता है। शनि देव के अशुभ प्रभावों से हर कोई भयभीत रहता है। शनि के अशुभ प्रभावों से व्यक्ति का जीवन बुरी तरह से प्रभावित हो जाता है। हनुमान जी और भोलेनाथ की कृपा से शनिदेव के अशुभ प्रभावों से बचा जा सकता है। शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या जिस व्यक्ति पर लगती है, उस पर शनिदेव का सबसे अधिक प्रभाव रहता है। शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या से पीड़ित लोग जरूर करें ये उपाय…
शिवलिंग पर जल अर्पित करेंसावन माह के शनिवार के दिन शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या से पीड़ित लोगों को शिवलिंग पर जल अर्पित करना चाहिए।
हनुमान जी को चोला चढ़ाएंसावन माह में शनिवार के दिन हनुमान जी को चोला चढ़ाना चाहिए। हनुमान जी को चोला चढ़ाने से सभी तरह के कष्टों से मुक्ति मिल जाती है।

शनिदेव को तेल अर्पित करेंशनिवार को शनिदेव को तेल अर्पित किया जाता है।

ऐसा करने से शनि के अशुभ प्रभावों से बचा जा सकता है। पीपल के वृक्ष की पूजा करेंधार्मिक मान्यताओं के अनुसार पीपल के वृक्ष की पूजा- अर्चना करने से शनि के अशुभ प्रभावों से मुक्ति मिल जाती है। शनिवार के दिन पीपल पर जल चढ़ाएं।
हनुमान जी का अधिक से अधिक ध्यान करें

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार हनुमान जी के भक्तों पर शनिदेव का अशुभ प्रभाव नहीं पड़ता है। शनिदेव ने हनुमान जी को वरदान दिया है कि आपके भक्तों पर मेरी बुरी नजर नहीं पड़ेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

न्यूटाउन में चल रही नाका चेकिंग

कोलकाताः सड़क हादसों को कम करने के लिए बिधाननगर पुलिस के नव दिगंत ट्रैफिक गार्ड अब सक्रिय है। वे नालबन के सामने कोलकाता के रास्ते आगे पढ़ें »

ऊपर