मंगलवार के दिन इन उपायों को करने से सैलरी में होता है इंक्रीमेंट, ऐसी है मान्यता

कोलकाता : मंगलवार के दिन भगवान हनुमान की पूजा की जाती है। कहते हैं कि हनुमान जी की अराधना से जीवन के सारे कष्ट दूर हो जाते हैं और घर परिवार में सुख-समृद्धि आती है। इस दिन कई लोग हनुमान चालीसा का पाठ भी करते हैं और हनुमान जी के मंदिर में जाकर विशेष पूजा अर्चना करते हैं। इस दिन हनुमान जी की कृपा पाने के लिए उनके साथ भगवान राम और माता सीता की अराधना भी करनी चाहिए। जानिए मंगलवार के दिन किन उपायों को करने से सैलरी में वृद्धि होने की मान्यता है। मंगलवार के दिन भगवान राम के मंदिर में जाएं और हनुमानजी के श्री रूप के मस्तक का सिंदूर दाएं हाथ के अंगूठे से लेकर सीता माता के चरणों में लगा दें। कहते हैं कि ऐसा करने से मनुष्य की सारी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं।
* मंगलवार के दिन हनुमान जी के समक्ष चमेली के तेल का दीपक जलाने से सभी कष्ट दूर होने के साथ नौकरी में प्रमोशन मिलने की संभावना रहती है। इससे मंगल दोष कटता है।
*मंगलवार की सुबह स्नान करने के बाद पीपल के पेड़ पर सरसों के तेल का दीपक जलाएं। इसके बाद मंदिर में पूर्व दिशा की तरफ मुख करके श्री राम नाम का तुलसी की माला से जप करें। इसकी कम से कम 11 माला जप अवश्य करें। इसके बाद आप देखेंगे कि आपके करियर में तरक्की होने लगी है।
* मंगलवार को हनुमानजी को चोला चढ़ाएं और उन्हें सिंदूर और चमेली का तेल अर्पित करें। गरीबों को खाना खिलाएं। ऐसा करने से बिजनेस हो या नौकरी दोनों में ही सफलता मिलने के आसार रहते हैं।
* मंगलवार के दिन हनुमानजी को शुद्ध देसी घी से बना प्रसाद अर्पित करें या फिर गुड़ और से चने का बजरंगबली को भोग लगाएं। ऐसा करने से नौकरी में प्रमोशन की चाहत पूरी होने की संभावना है।
* मंगलवार के दिन तरक्की के लिए इस हनुमान मंत्र का विधि-विधान जाप करें-
ऊं नमो हनुमते रूद्रावताराय
सर्वशत्रुसंहारणाय सर्वरोग
हराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

अब कोलकाता पुलिस के कर्मी कर सकेंगे स्वेच्छा से अंगदान

ऑर्गन डोनेशन के लिए भी भर सकते हैं फॉर्म सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : अगर कोई अंगदान करना चाहता है और उसे नियम नहीं पता तो उसकी मुश्क‌िल आगे पढ़ें »

ऊपर