पायलट को नहीं मिली राहुल के पास जगह

जयपुर : देश- दुनिया में जहां अब किसान आंदोलन चर्चा का विषय बना हुआ है। वहीं बीते दिन राजस्थान में किसानों के मुद्दे को लेकर जहां राहुल गांधी ने केन्द्र सरकार के खिलाफ हुंकार भरी। इस दौरान राहुल की रैली के मंच पर पहली बार नजारे बदले- बदले नजर आए। आपको बता दें कि राहुल गांधी ने शुक्रवार को प्रदेश के दो जिले हनुमानगढ़ और श्रीगंगानगर में विभिन्न स्थानों पर किसानों को संबोधित किया। इस दौरान हनुमानगढ़ के पीलीबंगा में हुई सभा में राहुल गांधी के साथ सीएम अशोक गहलोत और पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट भी नजर आए। पीलीबंगा कांग्रेस नेता विनोद गोठवाल ने सचिन पायलट व अशोक गहलोत को माला भेंट कर उनका अभिवादन किया। लेकिन सभा के मंच पर इस बार का नजारा पहले की सभाओं से अलग था। मंच के हिसाब से बात करें तो राहुल गांधी और सचिन पायलट के बीच काफी दूरी रही। राहुल के बगल में सीएम अशोक गहलोत तो बैठे, लेकिन हमेशा दिखने वाली तस्वीर में बदलाव दिखा।

पहले ये हुआ करती थी राजस्थान की रैलियों की तस्वीर
आपको बता दें कि राजस्थान में अक्सर राहुल गांधी की सभाओं में पायलट-गहलोत को उनके अगल-बगल में देखा जाता रहा है। लेकिन इस बार सीएम गहलोत तो राहुल की बगल में विराजमान हुए, लेकिन सचिन पायलट की जगह प्रदेशाध्यक्ष गोविंद डोटासरा ने ली। इसके बाद राजस्थान प्रभारी अजय माकन और माकन के पास ही सचिन पायलट को स्थान दिया गया। राजनीति के जानकारों की मानें, तो हालांकि प्रोटोकॉल के तहत ऐसा हुआ। सचिन पायलट के पास फिलहाल प्रदेश कांग्रेस में कोई पद नहीं है, लिहाजा उन्हें चौथे नंबर पर बैठने की जगह मिली। लेकिन राहुल से मंच पर बढ़ी उनकी दूरियों के अब कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

rape

बुजुर्ग तांत्रिक ने नाबालिग बच्ची के साथ किया दुष्कर्म,‌ फिर…

अमरोहाः उत्तर प्रदेश के अमरोहा से एक नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि बच्ची के साथ आगे पढ़ें »

जब मनचले ने लेडी पुल‍िस से कहा, ‘इतनी पतली हो, रायफल कैसे संभालती हो!

फरीदपुरः उत्तर प्रदेश में महिलाओं से छेड़छाड़ के मामले दिन रोज बढ़ रहे है। अब तो मनचले बदमाशों का इतना साहस बढ़ गया है कि आगे पढ़ें »

ऊपर