बुधवार को करें भगवान गणेश को प्रसन्न करने के उपाय

कोलकाता : जैसा कि आप सभी जानते हैं कि बुधवार का दिन भगवान श्री गणेश को समर्पित है, जो हमारे सभी दुखों को हर लेते हैं और समृद्धि प्रदान करते हैं। यही कारण है कि उन्हें रिद्धि-सिद्धि या संपन्नता और सिद्धि के देवता की उपाधि भी दी जाती है। यदि कोई व्यक्ति किसी बीमारी, दरिद्रता या संकट से पीड़ित है, तो ऐसी परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए भगवान गणेश की भक्तिपूर्वक पूजा करना उनके लिए फायदेमंद होगा। आइए आपको बताते हैं बुधवार को किए जाने वाले कुछ उपाय, जिससे आप भगवान गणेश को प्रसन्न कर सकते हैं, उनका आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं और अपने जीवन में प्रचलित सभी दुखों से छुटकारा पा सकते हैं।
बुधवार के इन उपायों को करने से पाएं जीवन में खुशियां
* जीवन में आने वाली बाधाओं और चुनौतियों से छुटकारा पाने के लिए भगवान गणेश को सिंदूर या सिंदूर चढ़ाएं। ऐसा करने से आपके जीवन की सारी परेशानियां और मुश्किलें दूर हो जाएंगी।
*भगवान गणेश के मंदिर में जाकर उनकी पूजा करने से जीवन में समृद्धि की प्राप्ति होती है।
* बुधवार को भगवान गणेश को दूर्वा (हरी घास) चढ़ाने से लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
* बुधवार के दिन किसी गणेश मंदिर में जाकर भगवान को गुड़ का भोग लगाएं। ऐसा करने से आपकी मनोकामना अवश्य पूर्ण होगी।
* कार्यक्षेत्र और पेशेवर जीवन में आने वाली बाधाओं से छुटकारा पाने के लिए गणेश रुद्राक्ष धारण करें।
अपने जीवन के विभिन्न पहलुओं में सफलता प्राप्त करने के लिए बुधवार के दिन गाय को हरा चारा खिलाएं।
* गणेश मंदिर में दूर्वा की ग्यारह गांठें चढ़ाएं। ऐसा करने से भगवान गणेश प्रसन्न होंगे और बुध दोष समाप्त होगा।
* बुधवार को सुबह-सुबह श्री विष्णु सहस्रनाम स्तोत्र का जाप करना लाभकारी होता है, इससे भी बुध दोष खत्म होता है।
* बुधवार के दिन हरा रंग धारण करने से जीवन में समृद्धि प्राप्त करने में मदद मिलती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आज रेड रोड पर सुरक्षा चाक चौबंद, 1200 पुलिस कर्मी रहेंगे तैनात

रविवार रात से रेड रेड व आसपास की सड़कों पर वाहनों का यातायात बंद शहर के विभिन्न इलाकों में चला गया नाका चेकिंग सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : स्वतंत्रता आगे पढ़ें »

ऊपर