रिलायंस इंडस्ट्रीज का पूंजीकरण स्तर 9 लाख करोड़ के पार, यह मुकाम हा‌सिल करने वाली देश की पहली कंपनी

relience

नई दिल्ली : रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) शुक्रवार को 9 लाख करोड़ रूपये से अधिक का बाजार पूंजीकरण वाली पहली भारतीय कंपनी बन गई है। सुबह के कारोबारी सत्र में बीएसई पर कंपनी का बाजार पूंजीकरण 9,01,490.09 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। कंपनी के तिमाही परिणामों की घोषणा से पहले उसका शेयर 2.28 प्रतिशत की बढ़त के साथ 1,428 रुपये पर चल रहा है।

पिछले साल 8 लाख करोड़ रूपये के स्तर को छुआ था

इससे पहले अगस्त 2018 में रिलायंस आठ लाख करोड़ रुपये बाजार पूंजीकरण का स्तर छूने वाली देश की पहली कंपनी का रिकॉर्ड अपने नाम करा चुकी है। कंपनियों का बाजार पूंजीकरण शेयर बाजारों में उसके शेयर की कीमत पर निर्भर करता है और इसमें रोजाना बदलाव होता रहता है।

आरआईएल का एकीकृत शुद्ध लाभ इतना होगा

बताया जा रहा कि शुक्रवार को ही कंपनी चालू वित्‍त वर्ष की दूसरी तिमाही के लिए अपने वित्‍तीय परिणामों की घोषणा करने वाली है। वहीं, बाजार विश्‍लेषकों को उम्‍मीद है कि सितंबर तिमाही के लिए कंपनी मजबूत आंकड़े पेश करेगी। ब्‍लूमबर्ग द्वारा किए गए एक सर्वे में 14 में से 10 विश्‍लेषकों का मानना है कि आरआईएल का एकीकृत शुद्ध लाभ 11,256 करोड़ रुपए रहेगा। जबकि,9 विश्‍लेषकों का अनुमान है कि कंपनी का राजस्‍व 1.51 लाख करोड़ रुपए रहेगा।

बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच ने किया यह दावा

बता दें कि बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच ने अपनी एक रिपोर्ट में दावा किया है कि रिलायंस इंडस्‍ट्रीज लिमिटेड अगले दो सालों में 200 अरब डॉलर का बाजार पूंजीकरण हासिल करने वाली पहली भारतीय कंपनी बन सकती है। बैंक के मुताबिक, न्‍यू कॉमर्स वेंचर, फ‍िक्‍स्‍ड ब्रॉडबैंड ऑपरेशन और डिजिटल पहल कंपनी को 200 अरब डॉलर का बाजार पूंजीकरण हासिल करने में मदद करेंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Blast

अखनूर सेक्टर में सेना के काफिले पर हमला, आईईडी ब्लास्ट में एक जवान शहीद, दो घायल

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर आतंकवादियों ने नापाक हरकत की है। इस बार उन्होंने भारतीय सेना के जवानों को निशाना बनाने की कोशिश आगे पढ़ें »

Bill Gates

भारतीय अर्थव्यवस्था में विकास करने की क्षमता, संकट दूर होगी : बिल गेट्स

नई दिल्‍ली: आर्थिक मंदी से जूझ रहे भारत और इस पर लगातार मोदी सरकार की हो रही खिंचाई के बीच माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक और दुनिया आगे पढ़ें »

ऊपर