कई बार इन बातों की वजह से भी टूट जाती है शादी

नई दिल्ली : रिश्ता कोई भी हो उसकी नींव विश्वास पर ही टिकी होती है, जहां विश्वास टूटा वहां रिश्ते को भी टूटने में समय नहीं लगता है। अब पति-पत्नी के रिश्ते को ही ले लीजिए। कहते हैं सात फेरों और सात बंधन से ये रिश्ता बंधा होता है, लेकिन जन्म-जन्मांतरों तक चलने वाला ये रिश्ता आज के दौर में छोटी-छोटी बातों को लेकर भी टूट जाता है। ऐसा इसलिए भी देखा जाता है कि पहले की तरह लोगों के अंदर रिश्तों को निभाने की सहनशीलता नहीं है। असल में लड़का-लड़की जो शादी को लेकर सपने देखते हैं, शादी के बाद वाली जिंदगी बिल्कुल उसके उलट होती है। भले ही शादी के शुरुआत के कुछ दिन तो अच्छे से बीत जाते हैं, लेकिन आगे चलकर कई कपल के बीच परेशानियां बढ़ जाती है और जिसकी वजह से छोटी-छोटी बातों की वजह से रिश्ता तक टूट जाता है। तो चलिए आपको कुछ ऐसे ही मामूली कारणों के बारे में बताते हैं, जिनकी वजह से पति-पत्नी अलग होने तक का फैसला ले लेते हैं।
गलतफहमी की वजह से

गलतफहमी की वजह से कई बार पति-पत्नी का रिश्ता टूट जाता है। कई बार व्यक्ति अपने पार्टनर को लेकर किसी गलत तरह की गलतफहमी पाल लेता है। पार्टनर किससे फोन पर बात कर रहा है, क्यों बात कर रहा है आदि जैसी इन छोटी बातों की वजह से गलतफहमी पैदा होती है, जो आगे चलकर रिश्ता टूटने की वजह बन जाती है। इसलिए आपको इस गलतफहमी से बचना चाहिए।

आर्थिक परेशानियों के कारण

कई बार जब लोगों के पास नौकरी या पैसा आने का कोई स्थानी जरिया नहीं होता है, तो ऐसे में वे ये सोचकर शादी के पवित्र बंधन में बंध जाते हैं कि शायद शादी के बाद उनकी आर्थिक स्थिति ठीक हो जाएगी। लेकिन कई बार शादी के बाद नौकरी भी नहीं मिलती और आर्थिक हालत और ज्यादा खराब हो जाते हैं। ऐसे में भी पति-पत्नी के बीच कई बार समस्याएं खड़ी हो जाती हैं।

सपने से परे जिंदगी मिलने पर

लड़का हो या फिर लड़की। हर किसी का अपनी शादी और उसके बाद की जिंदगी को लेकर अपने सपने होते हैं। कैसे वे जिंदगी जिएंगे, उनकी जिंदगी में क्या-क्या होगा, कैसे वे अपने पार्टनर को खुश रखेंगे, पार्टनर से उनकी क्या उम्मीदें होंगी आदि। लेकिन कई बार शादी के बाद बिल्कुल इसका उलट हो जाता है यानी जो सपने थे वे टूटे नजर आते हैं। ऐसे में भी कपल के बीच चीजें बिगड़ती हैं, और इसका सीधा असर रिश्ते पर पड़ता है।

भावनात्मक रूप से पार्टनर से जुड़ पाने पर

किसी भी रिश्ते को अगर निभाना है, तो उससे भावनात्मक रूप से जुड़ना पड़ता है। लेकिन पति-पत्नी के रिश्ते में कई बार ये भी देखा जाता है कि दोनों एक-दूसरे से भावनात्मक रूप से नहीं जुड़ पाते हैं। भले ही वे घर वालों की इच्छा से अरेंज मैरिज कर लेते हैं, लेकिन उनकी आपस में नहीं बन पाती है और इसकी वजह से भी कई बार रिश्ता बिखर जाता है।

 

 

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बड़ी खबरः राज्य में कोविड के एक दिन में 575 नए मामले, 12 की मौत

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः राज्य में कोरोना वायरस के एक दिन में 575 नए मामले दर्ज किए गए। इसके अलावा 12 की मौत हो गई। अब तक आगे पढ़ें »

ऊपर